in , ,

बांग्लादेश में 9 गुना महंगी हुई प्याज, प्लेन से करना पड़ रहा आयात

लोगों को राहत देने के लिए सरकारी संस्थान ट्रेडिंग कॉरपोरेशन ऑफ बांग्लादेश (टीसीबी) ने ढाका में 45 टका प्रति किलो प्याज बेचने का काम शुरू किया है. हालांकि सब्सिडी दर पर प्याज खरीदने के लिए लोगों को कई कई घंटे कतार में खड़ा होना पड़ रहा है.

  • भारत से निर्यात बंद होने का असर बांग्लादेश पर
  • तुर्की, चीन, मिस्र से प्याज आयात कर रहा बांग्लादेश

बांग्लादेश में प्याज की कीमतें आसमान छू रही हैं. कभी 30 टका बिकने वाले प्याज की कीमत आज 260 टका प्रति किलो तक पहुंच गई है. हालत ये है कि बांग्लादेश सरकार को खपत पूरी करने के लिए प्याज हवाई जहाज से आयात करना पड़ रहा है. महंगाई के कारण लोगों की थाली से प्याज लगभग गायब हो चुका है.

बांग्लादेश में आसमानी छूती प्याज की कीमतों के पीछे भारत भी एक वजह है क्योंकि यहां प्याज के दाम में भारी उछाल के बाद सितंबर महीने से इसका निर्यात बंद कर दिया गया है. मानसूनी बारिश के बाद भारत में बड़े स्तर पर प्याज की फसल बरबाद हो गई जिस कारण प्याज की आवक में भारी गिरावट दर्ज की गई. इस कारण भारत में भी प्याज के दाम में भारी उछाल है, हालांकि बांग्लादेश की तुलना में यहां भाव नीचे है.

प्रधानमंत्री शेख हसीना के डिप्टी प्रेस सेक्रेटरी हसन जाहिद ने न्यूज एजेंसी एएफपी से कहा कि हवाई जहाज से प्याज का आयात किया जा रहा है और प्रधानमंत्री (शेख हसीना) ने कहा है कि उन्होंने खाने में प्याज का इस्तेमाल बंद कर दिया है. कीमतों को लेकर ढाका में लोगों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है. इसे देखते हुए म्यांमार, तुर्की, चीन और मिस्र से प्याज का आयात किया जा रहा है.

उधर लोगों को राहत देने के लिए सरकारी संस्थान ट्रेडिंग कॉरपोरेशन ऑफ बांग्लादेश (टीसीबी) ने ढाका में 45 टका प्रति किलो प्याज बेचने का काम शुरू किया है. हालांकि सब्सिडी दर पर प्याज खरीदने के लिए लोगों को कई कई घंटे कतार में खड़ा होना पड़ रहा है. बांग्लादेश के रेस्त्रां में प्याज का इस्तेमाल काफी घटा दिया गया है. इस कारण स्नैक्स की बिक्री पर भी भारी असर देखा जा रहा है.

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

संबित पात्रा से जीरो पूछने वाले गौरव बल्लभ लड़ेंगे चुनाव, CM रघुवर के खिलाफ टिकट

कश्मीरी नेताओं की हिरासत पर लोकसभा में विपक्ष की नारेबाजी, कांग्रेस ने कहा- संसद आना फारूक अब्दुल्ला का अधिकार