in

युवती का आरोप पति-सास ने सात दिन बांधकर रखा, इतना शोषण किया कि कैमरे के सामने बोल भी नहीं सकती

Woman molesting in Indore

इंदौर. चंदन नगर की युवती पर कुक्षी स्थित ससुराल में पति और सास ने खूब सितम ढाए। उसे हाथ-पैर बांधकर एक कमरे में पटक रखा। बच्ची को दूध पिलाने के लिए ही उसके हाथ खोलते। भोजन भी नहीं देते। रविवार को बच्ची को दूध पिलाने के लिए उसके हाथ खोलकर पति बाथरूम गया तो पत्नी ने उसे बाहर से बंद कर दिया। फिर वह बस से इंदौर भाग आर्इ। किराया नहीं होने पर कंडक्टर से गुहार लगाई तो उसने राजेंद्र नगर थाने पर पहुंचा दिया। वह इतनी कमजोर हो चुकी थी कि थाने में बयान देते वक्त तीन-चार बार चक्कर खाकर गिर गई। 


राजेंद्र नगर टीआई सुनील शर्मा के मुताबिक, 21 वर्षीय आरती रविवार रात थाने पहुंची। उसके साथ बुआ व अन्य लोग भी थे। आरती काफी कमजोर थी और बयान देते वक्त तीन-चार बार चक्कर खाकर गिर पड़ी थी। आरती ने बताया कि उसे पति टीनू बेहलासिया निवासी भट्टी मोहल्ला कुक्षी और सास ने सात दिन से बंधक बनाकर रखा। उसे एक कमरे में हाथ-पैर बांधकर पटक दिया था। जब उसे बच्ची को दूध पिलाना होता था, तभी उसके हाथ पैर खोले जाते थे। आरती का कहना था कि उसका पति उसे चरित्र शंका कर रोजाना पीटता था। कहता था कि उसका मामा के लड़के से ही संबंध हैं। वह पत्नी की हत्या का प्लान भी कर रहा था। इसके चलते आरती इंदौर में मां के पास रहने आ गई थी। कुछ दिन पहले आरती को लेने के लिए शादी करवाने वाला रिश्तेदार कमलेश आ गया। उसने आरती को 7 दिन पहले कुक्षी में पति के पास ले जाकर छोड़ दिया। तब से पति और सास ने उसे बंधक बना दिया था। आरती ने बताया कि उसे कुछ खाने को नहीं दिया जाता था। पति कमरे में एक बार आता और चम्मच से कुछ लिक्विड पिला देता था। उसके बाद वह बेसुध हो जाती थी। रविवार को बच्ची को दूध पिलाने के लिए पति ने आरती के हाथ खोले और वह बाथरूम में चला गया। तभी आरती ने बाहर से दरवाजा बंद किया और बच्ची को लेकर सीधे बस स्टैंड पहुंची। वहां इंदौर की बस में बैठ गई।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

जबलपुर में सिरफिरे ने लड़की को चाकू से 70 बार गोदा, आंतें निकलीं

मंदी का मार – गाज़ियाबाद में पुरे परिवार ने की आत्महत्या