in

Union Cabinet meeting: दादरा और नगर हवेली व दमन और दीव का मुख्यालय होगा दमन

 केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में दमन को केंद्र शासित प्रदेश दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव के मुख्यालय के रूप में भी नामित करने का फैसला लिया गया है। कैबिनेट ने दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव के विलय के मद्देनजर गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स वैल्यू एडेड टैक्स और एक्साइज ड्यूटी से संबंधित संशोधन / विस्तार / निरस्तिकरण को मंजूरी दे दी है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसकी जानकारी दी।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (एनआइटी) के परमानेंट कैंपसों के निर्माण के लिए 2021-2022 तक की अवधि के लिए 4371.90 करोड़ रुपये की कुल लागत पर नए रिवाइज्ड कॉस्ट एस्टीमेट को मंजूरी दे दी है।’

वर्ष 2009 में स्थापित किए गए एनआइटी स्थायी परिसरों से पूरी तरह कार्यात्मक होंगे

जावड़ेकर ने आगे कहा कि वर्ष 2009 में स्थापित किए गए एनआइटी और 2010-2011 से अपने संबंधित अस्थायी परिसर में सीमित स्थान और बुनियादी ढांचे के साथ काम करना शुरू कर दिया था। ये 31 मार्च से 2022 से संबंधित स्थायी परिसरों से पूरी तरह कार्यात्मक होंगे। 

अन्य पिछड़ा वर्ग के भीतर उप-वर्गीकरण के मुद्दे की जांच गठित आयोग को विस्तार

जावड़ेकर के अनुसार केंद्रीय सूची में अन्य पिछड़ा वर्ग के भीतर उप-वर्गीकरण के मुद्दे की जांच करने के लिए, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने संविधान के अनुच्छेद 340 के तहत गठित आयोग के कार्यकाल के विस्तार को मंजूरी दी है। कार्यकाल को 6 महीने बढ़ाकर 31 जुलाई 2020 तक कर दिया गया है।

जावड़ेकर ने आगे बताया कि आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने रसायन और पेट्रोकेमिकल्स विभाग के तहत एक केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के हिंदुस्तान फ्लूरोकार्बन लिमिटेड को बंद करने की मंजूरी दे दी है। यह लगभग बंद होने के कागार पर था।

Report

What do you think?

Written by Bhanu Pratap

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

मौसम अपडेट: कोहरे की घनी चादर से लिपटी दिल्ली, बर्फबारी से फिर लौटी हाड़ गलाने वाली ठंड, जानें 22 जनवरी का पूर्वानुमान

राजनाथ सिंह बोले, किसी भी देश में भारत की ओर आंख उठाने की नहीं है हिम्मत