in

तेहरान एयरपोर्ट से उड़ान भरने के 3 मिनट बाद बोइंग-737 प्लेन क्रैश, विमान में सवार सभी 176 लोगों की मौत

  • ईरान की सरकारी न्यूज एजेंसी के मुताबिक, हादसा तकनीकी दिक्कत की वजह से हुआ
  • ईरान के बुशहर में बुधवार सुबह ही 4.9 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए
  • इस घटना से कुछ ही घंटों पहले ईरान ने इराक स्थित अमेरिकी सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया था

ईरान में तेहरान स्थित इमाम खोमेनी एयरपोर्ट पर बुधवार सुबह बोइंग-737 विमान उड़ान भरने के 3 मिनट बाद ही क्रैश हो गया। ईरान के आपातकालीन सेवाओं के एक अफसर ने सरकारी मीडिया से दावा किया कि विमान में सवार सभी 176 लोगों की मौत हो गई। इसमें 167 यात्री और 9 क्रू मेंबर्स थे। ईरान की फार्स न्यूज एजेंसी के मुताबिक, यूक्रेन एयरलाइंस का विमान तेहरान से यूक्रेन के कीव जा रहा था। हादसे की वजह तकनीकी खराबी बताई जा रही है। उड्डयन विभाग की एक टीम घटनास्थल पर जांच के लिए मौजूद है। अभी तक सरकार और एयरलाइन के किसी अफसर ने इस घटना पर टिप्पणी नहीं की है। 

फ्लाइट रडार 24 वेबसाइट ने एयरपोर्ट के डेटा के आधार पर बताया कि यूक्रेन के बोइंग 737-800 विमान को स्थानीय समयानुसार सुबह 5:15 पर उड़ान भरनी थी। हालांकि, इसे 6:12 पर रवाना किया गया। उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद ही फ्लाइट ने डेटा भेजना बंद कर दिया। एयरलाइन ने इस मामले में अब तक बयान जारी नहीं किया है। 

ईरान की इस्ना न्यूज एजेंसी की तरफ से पोस्ट किए गए वीडियो में विमान के अंधेरे में क्रैश होने के बाद धमाका होते देखा जा सकता है। इस्ना ने घटनास्थल की फोटोज भी जारी कीं। इनमें विमान के मलबे को जमीन पर बिखरा देखा जा सकता है। 

भारत में भी हादसे का शिकार हुआ है बोइंग 737-800 विमान

बोइंग 737-800 दो इंजन वाला जेट है। दुनियाभर की सैकड़ों एयरलाइंस इस माॅडल के विमान इस्तेमाल करती हैं। 1990 में आया यह विमान बोइंग 737 मैक्स विमान का पुराना वर्जन है। बोइंग 737-800 भी इससे पहले कई दुर्घटनाओं का शिकार हो चुका है। मई 2010 में एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान मैंगलोर में लैंडिंग के दौरान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इसमें 150 लोगों की मौत हुई थी। बोइंग 737-800 क्रैश का सबसे ताजा मामला मार्च 2016 का है। फ्लाईदुबई एयरलाइन का विमान रूस के रोस्तोव-ऑन-डॉन एयरपोर्ट पर लैंड करने की कोशिश में क्रैश हुआ था। इसमें भी 62 लोेग मारे गए थे। 

बोइंग-737 विमानों के लिए खराब साल रहा 2019 और 2018

पिछले साल मार्च में बोइंग-737 मॉडल का ही एक विमान टेकऑफ के 6 मिनट बाद क्रैश हो गया था। इसमें 157 यात्रियों की मौत हुई थी। वहीं, 2018 में भी इंडोनेशिया के जकार्ता में लॉयन एयरलाइंस का बोइंग-737 उड़ान भरने के बाद ही क्रैश हुआ था। इसमें 112 की मौत हुई थी। 

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

ईरान मे बड़ा विमान हादसा 180 यात्रीयो से भरा प्लेन क्रैश

भारत बंद' से बैंकिग सेवाएं प्रभावित, सामान्य जीवन-यापन पर भी पड़ा असर