in ,

13 लोगों की मौत के बाद एक्शन, आधी रात को खुला हाईकोर्ट, अजीत डोभाल ने किया दौरा, मेट्रो स्टेशन खोले गये

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर उत्तर पूर्वी दिल्ली में हो रही हिंसा पर पुलिस-प्रशासन के हार्ड एक्शन के बाद ब्रेक लगा है. हालांकि तनाव अभी भी व्याप्त है. इस हिंसक प्रदर्शन में अब तक 13 लोगों की जान जा चुकी है. वहीं 200 से ज्यादा लोग घायल हैं. प्रशासन स्थिति पर नियंत्रण बनाए रखने की कोशिशों में जुटा हुआ है. हिंसा प्रभावित इलाकों में पुलिस को अब दंगाइयों को देखते ही गोली मारने के आदेश दे दिए गए हैं. हालात का जायजा लेने के लिए एनएसए अजीत डोभाल मंगलवार देर रात हिंसा प्रभावित इलाकों में पहुंचे. आज जाफराबाद सिहत सभी पांच मेट्रो स्टेशन खोल दिए गये हैं.

हालांकि इस क्षेत्र के स्कूलों में परिक्षाओं को रद्द कर दिया गया है.

– दिल्ली के गुरु तेग बहादुर अस्पताल (जीटीवी) ने बताया कि घायलों में से चार की मौत आज सुबह हुई. इसी के साथ दिल्ली हिंसा में मृतकों की संख्या बढ़ कर 17 हो गयी. घायलों में कुछ की हालत अभी भी गंभीर है.

– दिल्ली हिंसा के मामले में शिकायतों पर एफआईआर दर्ज कराने की मांग वाली याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगा। इस याचिका को पूर्व मुख्य सूचना आयुक्त वजाहत हबीबुल्ला, भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर और अन्य ने दायर की है.

– दिल्ली के मौजपुर, सीलमपुर और गोकुलपुरी में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था है.

सीएए पर हुई हिंसा मामले में दिल्ली हाई कोर्ट में आधी रात को सुनवाई हुई. जस्टिस एस. मुरलीधर के घर पर मंगलवार देर रात हुई सुनवाई में हाई कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को मुस्तफाबाद के एक अस्पताल से एंबुलेंस को सुरक्षित रास्ता और मरीजों को सरकारी अस्पताल में शिफ्ट करने का निर्देश दिया. इसके साथ ही स्टेटस रिपोर्ट तलब की. आज दोपहर 2.15 फिर से सुनवाई होगी. दिल्ली हिंसा मामले में राहुल रॉय ने याचिका दाखिल की थी.

– हिंसा प्रभावित क्षेत्रों के मेट्रो स्टेशन आज खोल दिए गये हैं.

हालात का जायजा लेने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल मंगलवार देर रात हिंसा प्रभावित इलाकों में पहुंचे. उन्होंने गाड़ी में बैठकर सीलमपुर, भजनपुरा, मौजपुर, यमुना विहार जैसे हिंसा प्रभावित इलाकों की स्थिति का जायजा लिया. डोभाल रात करीब साढ़े 11 बजे सीलमपुर स्थित नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के डीसीपी दफ्तर पहुंचे और वहां बैठक कर शहर में सुरक्षा की स्थिति की समीक्षा की. करीब एक घंटे तक चली बैठक में डीसीपी नॉर्थ-ईस्ट, स्पेशल पुलिस कमिश्नर एस. एन. श्रीवास्तव और दूसरे वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए.

– जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के बाहर संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के खिलाफ प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने मंगलवार शाम में रास्ता खाली कर दिया. पुलिस ने बताया कि यह महिलाएं शनिवार रात से यहां सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कर रही थीं. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने स्थानीय लोगों के साथ मिलकर रास्ता साफ कर लिया. यहां दो दिनों से हिंसा भड़की थी.

– उत्तर पूर्व दिल्ली के मौजपुर चौक पर सीएए के समर्थन में भीड़ को संबोधित करते हुए दिये गये अपने भाषण पर उठे विवाद के बाद भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने मंगलवार को कहा कि वह सच बोलने पर अपने खिलाफ चलाये जा रहे नफरत वाले अभियान से डरते नहीं हैं और कानून का समर्थन कर रहे हैं. मिश्रा ने ट्वीट किया कि उन्हें गाली दी जा रही हैं और जान से मारने की धमकी दी जा रही हैं. उन्होंने कहा कि संशोधित नागरिकता कानून का समर्थन करके उन्होंने कोई अपराध नहीं किया.

– उत्तरपूर्वी दिल्ली में मंगलवार को नए सिरे से हिंसा भड़क गई जिसमें मृतक संख्या बढ़कर 13 हो गई है। पुलिस भीड़ पर काबू पाने की जद्दोजेहद में लगी रही जो गलियों में घूम रही थी। भीड़ में शामिल लोग दुकानों को आग लगा रहे थे, पथराव कर रहे थे और वे स्थानीय लोगों के साथ मारपीट कर रहे थे. दिल्ली के उत्तरपूर्वी इलाके में तनाव के दूसरे दिन हिंसा चांदबाग और भजनपुरा सहित कई क्षेत्रों में फैल गई. इस दौरान पथराव किया गया, दुकानों को आग लगायी गयी. दंगाइयों ने गोकलपुरी में दो दमकल वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया. भीड़ भड़काऊ नारे लगा रही थी और मौजपुर और अन्य स्थानों पर अपने रास्ते में आने वाले फल की गाड़ियों, रिक्शा और अन्य चीजों को आग लगा दी. पुलिस ने दंगाइयों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े. इन दंगाइयों ने अपने हाथों में हथियार, पत्थर, रॉड और तलवारें भी ली हुई थीं. सड़कों पर क्षतिग्रस्त वाहन, ईंट और जले हुए टायर पड़े थे जो सोमवार को हुई हिंसा की गवाही दे रहे थे जिसमें 48 पुलिसकर्मियों सहित लगभग 200 लोग घायल हो गए थे. जीटीबी अस्पताल के अनुसार मंगलवार को मृतक संख्या 13 हो गई.

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

इस अरबपति लड़के के साथ हो सकती है सचिन तेंदुलकर की बेटी की शादी, होगा आश्चर्य

वारिस पठान को देवेंद्र फडणवीस की दो टूक, शिवसेना ने चूड़ियां पहन रखी होंगी, हमने नहीं