in

आखिर 29 अप्रैल को क्या होने वाला है, Google पर काफी ज्यादा लोग कर रहे हैं सर्च, NASA ने पृथ्वी को लेकर पहले ही दी थी सूचना

आखिर 29 (29 April 2020)अप्रैल को क्या होने वाला है?, गूगल और सोशल मीडिया पर ये सर्च कुछ दिनों से काफी किया जा रहा है। सोशल मीडिया पर तो लोग यह भी दावा कर रहे हैं कि 29 अप्रैल 2020 को दुनिया में भारी ताबही आएगी और विनाश हो जाएगा। लेकिन हम आपको बता दें कि आप इन अफवाहों पर बिल्कुल ध्यान ना दें। नासा (NAS) ने 29 अप्रैल को लेकर एक सूचना जारी की है। जिसके मुताबिक, ”52768 (1998 OR2)”नाम का एक क्षुद्रग्रह 29 अप्रैल, 2020 को पृथ्वी से गुजरेगा।

इस दौरान पृथ्वी से इसकी दूरी करीब 4 मिलियन मील होगी। नासा ने यह भी बताया है कि इससे पृथ्वी पर किसी तरह का कोई असर नहीं पड़ने वाला है।

‘CNEOS’ के आधिकारिक अकाउंट से ​ट्वीट कर बताया गया है, ”29 अप्रैल को क्षुद्रग्रह 1998 OR2 पृथ्वी से 3.9 मिलियन माइल/6.2 मिलियन किलोमीटर की दूरी पर गुजरेगा। यह पूरी तरह सुरक्षित है। एक अंग्रेजी वेबसाइट ”डेली एक्सप्रेस” ने इसको लेकर एक चेतावनी भरी खबर चला दी थी, जिसपर ‘CNEOS’ ने ट्वीट कर कहा था दुनिया के विनाश की खबर पूरी तरह से गलत है।” बताया जा रहा है कि इस क्षुद्रग्रह का आकार बहुत ही बड़ा है। रिपोर्ट के मुताबिक इसका साइज हिमालय पर्वत से आधे साइज का है।

29 अप्रैल को सुबह 10 बजे गुजरेगा क्षुद्रग्रह

क्षुद्रग्रह 1998 OR2(नाम) 29 अप्रैल को सुबह 10 बजे से पहले पृथ्वी के पास से 3.9 मिलियन मील की दूरी से गुजरेगा। यह दूर की आवाज हो सकती है, लेकिन यह काफी करीब है जिसे नासा द्वारा “अर्थ ऑब्जेक्ट के पास” (NEO) माना जा सकता है। अंतरिक्ष एजेंसी पृथ्वी के 120 मिलियन मील एनईओ के भीतर गुजरने वाली किसी भी चीज पर विचार करती है।

नासा हर हफ्ते लगभग 30 एनईओ को पता चलता है। अंतरिक्ष एजेंसी ने बताया, “विशेषज्ञों का अनुमान है कि 2013 में चेल्याबिंस्क, रूस में एक वस्तु के आकार का एक प्रभाव – लगभग 55 फीट (17 मीटर) आकार में- एक सदी में एक या दो बार होता है।

Report

What do you think?

Written by Bhanu Pratap

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

रामलला के शिफ्टिंग कार्यक्रम में मौजूद रहने वाले हैं योगी, पूजा-अर्चना करने का भी कार्यक्रम

विधानसभा पहुंचे सीएम कमलनाथ, फ्लोर टेस्ट पर सस्पेंस बरकरार