in ,

एक आईएएस, 12 साल की लड़की समेत 9 संक्रमित; भोपाल में 6 दिन में तीसरी मौत, इंदौर में दो और जान गईं

  • इंदौर के 1200 सैंपल दिल्ली भेजे,10 लाख टैबलेट बुलवाईं.
  • इटारसी में 5 पॉजिटिव, उज्जैन में 7 साल का बच्चा संक्रमित.

राजधानी में रविवार को एक आईएएस अफसर और 12 साल की लड़की समेत 9 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। चिकित्सा शिक्षा विभाग में कार्यरत ये अफसर 2013 बैच के आईएएस हैं। इसके अलावा कोरोना से एक मौत की पुष्टि भी हुई है। चौकी इमामबाड़ा के रहने वाले 49 साल के इमरान खान की मौत शनिवार को हुई थी। रविवार को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। शहर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 133 से बढ़कर 142 हो गई है। इनमें स्वास्थ्य विभाग के 75 कर्मचारी शामिल हैं। उधर, इंदौर में भी दो लोगों की मौत हुई है। आठ नए मरीज भी मिले हैं। 

राजधानी में मृत इमरान को एक साल से मुंह का कैंसर भी था। वे घर पर ही रहते थे। उन्हें संक्रमण कैसे हुआ, इसका पता नहीं चल पाया है। उनके भाई राशिद ने बताया कि इमरान को हर 15 दिन में कीमो थैरेपी के लिए भर्ती किया जाता था। कीमो के बाद उन्हें उल्टी-दस्त और बुखार आ जाता था। शनिवार को अचानक तबीयत खराब होने पर एम्स ले जाया गया। यहां पर डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

इधर, प्रदेश सरकार ने  इंदौर, उज्जैन और भोपाल के बिगड़ते हालात को देखते हुए रविवार को कोरोना संदिग्ध व्यक्तियों के 1200 सैंपल जांच के लिए दिल्ली भेजे। सोमवार शाम तक इन सभी की रिपोर्ट आ जाएगी। मप्र में यह पहला मामला है, जब इतनी बड़ी संख्या में सैंपल राज्य से बाहर भेजे गए हैं। इसके साथ सरकार ने दिल्ली से दवाएं भी बुलाई है। इसमें 10 लाख 50 हजार हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन और 80 हजार एजीथ्रोमाइसिन टैबलेट भी है, जो गले में इंफेक्शन के दौरान दी जाती है। कोरोना संदिग्धों के सैंपल लेकर गए विमान से ही ये दवाएं लाई गई हैं।

छोटे-छोटे शहरों में कोरोना
कोरोना छोटे-छोटे शहरों में भी तेजी से फैल रहा है। रविवार को इटारसी में 5 नए मरीज मिले हैं। उज्जैन में सात साल का एक बच्चा भी संक्रमित मिला है। जबलपुर में 70 साल के एक बुजुर्ग की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। इसके अलावा खरगोन में एक व्यक्ति की मौत हो गई है। 

इंदौर में स्वस्थ होकर लौटे सात और मरीज
इंदौर में रविवार को कोरोना के 7 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया। इनमें टाटपट्टी बाखल इलाके के पांच मरीज शामिल हैं। पुलिस पर पथराव कर देशभर में चर्चा में आए इस इलाके में बदला हुआ नजारा दिखा। पांचों मरीज जब टाटपट्‌टी बाखल पहुंचे तो लोगों ने घरों के ओटलों, खिड़की, छतों पर खड़े होकर तालियां बजाईं। मेडिकल टीम जब तक इलाके में रही उनका तालियां बजाकर अभिवादन होता रहा।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

पुणे में पीपीई किट पहनकर चोरों ने चोरी की, चार दुकानों से लाखों रुपए उड़ाए

कोरोना से स्वस्थ होकर घर आए इंजीनियर से पड़ोसी अछूत जैसा बर्ताव कर रहे