in

एपल को दिसंबर तिमाही में रिकॉर्ड 1.58 लाख करोड़ रुपए का मुनाफा, एक साल बाद आईफोन की बिक्री बढ़ी

एपल का मुनाफा अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में 11.4% बढ़कर 22.2 अरब डॉलर (1.58 लाख करोड़ रुपए) पहुंच गया। यह किसी अमेरिकी कंपनी का अब तक का सबसे बड़ा तिमाही मुनाफा है। चार तिमाही बाद फ्लैगशिप प्रोडक्ट आईफोन की बिक्री बढ़ने से एपल को फायदा हुआ। एपल का ज्यादातर रेवेन्यू आईफोन से ही आता है। दिसंबर तिमाही में आईफोन की बिक्री 8% बढ़कर 56 अरब डॉलर (3.99 लाख करोड़ रुपए) रही। एपल का कुल रेवेन्यू 2018 की दिसंबर तिमाही के मुकाबले पिछली तिमाही में 9% बढ़कर 91.8 अरब डॉलर (6.54 लाख करोड़ रुपए) रहा। यह भी अब तक का रिकॉर्ड है। कुल रेवेन्यू में आईफोन का शेयर 61% रहा। कंपनी ने मंगलवार को तिमाही नतीजे घोषित किए।

वियरेबल्स सेगमेंट में 37% रेवेन्यू ग्रोथ

सेगमेंटरेवेन्यू ग्रोथ (सालाना)
आईफोन8%
सर्विसेज17%
वियरेबल्स37%

आईफोन 11 की सबसे ज्यादा बिक्री
छुट्टियों का सीजन होने की वजह से दिसंबर तिमाही की बिक्री एपल के लिए अहम होती है। एपल के सीईओ टिम कुक ने कहा कि पिछली तिमाही में आईफोन 11 की सबसे ज्यादा बिक्री हुई। सर्विसेज और वियरेबल्स सेगमेंट में भी रिकॉर्ड रेवेन्यू मिला। सर्विसेज और वियरेबल्स सेगमेंट में रेवेन्यू बढ़ना कंपनी के लिए इसलिए अहम है, क्योंकि पिछली कुछ तिमाहियों में आईफोन की बिक्री में गिरावट को देखते हुए कंपनी को भविष्य के लिए इन सेगमेंट से उम्मीद बढ़ गई थी। सर्विसेज सेगमेंट में एपल टीवीप्लस, एपल म्यूजिक, आईक्लाउड, एपल केयर और अन्य प्रोडक्ट शामिल हैं।

इस साल 60 करोड़ पेड सब्सक्राइबर का लक्ष्य

सर्विसेज प्लेटफॉर्म पर एपल के 45 करोड़ पेड सब्सक्रिप्शन हैं। कंपनी ने इस साल के आखिर तक 60 करोड़ का लक्ष्य तय किया है। हालांकि, कंपनी ने एपल टीवीप्लस की सब्सक्राइबर की संख्या अलग से नहीं बताई। कंपनी ने पिछले साल नवंबर में 100 से ज्यादा देशों में 4.99 डॉलर प्रति महीने पर ऑन डिमांड स्ट्रीमिंग सर्विस एपल टीवीप्लस लॉन्च की थी।

एपल की ग्रोथ में भारत की बड़ी भूमिका
एपल भारत में आईफोन एक्सआर की मैन्युफैक्चरिंग कर रही है। इस साल के मध्य तक भारत में कंपनी आउटलेट के जरिए सीधे प्रोडक्ट बिक्री की योजना भी है। एपल ने अलग-अलग देशों में बिक्री के आंकड़े तो जारी नहीं किए, लेकिन सीईओ टिम कुक ने कहा कि दिसंबर तिमाही में ब्राजील, चीन, भारत, थाईलैंड और तुर्की जैसे बाजारों में कंपनी का प्रदर्शन अच्छा रहा।

चीन में ग्रोथ लौटी, 15% रेवेन्यू वहीं से आया
कंपनी ने जनवरी-मार्च तिमाही में कुल 63 अरब से 67 अरब डॉलर के रेवेन्यू का अनुमान जारी किया है। एपल के लिए अमेरिका के बाद चीन एक अहम बाजार है। दिसंबर तिमाही में चीन में एपल की रेवेन्यू ग्रोथ लौटी है, इससे पहले लगातार गिरावट दर्ज की जा रही थी। कंपनी के कुल रेवेन्यू में चीन की हिस्सेदारी 15% रही। एपल का कहना है कि कोरोनावायरस नहीं फैलता तो चीन में आगे भी कंपनी की ग्रोथ को लेकर कोई सवाल नहीं उठता।

Report

What do you think?

Written by Bhanu Pratap

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

IND vs NZ LIVE / रोहित ने 23 गेंद पर अर्धशतक लगाया, राहुल के साथ 70+ रन की साझेदारी की

कोलकाता में चलेगी देश की पहली अंडरवाटर मेट्रो, 66 दिन में बनी टनल; आधे घंटे का सफर 1 मिनट में