in

अरविंद केजरीवाल ने अमित शाह से पूछा- आप दिल्ली के लोगों से इतनी नफरत क्यों करते हैं? मनोज तिवारी ने दिया ये जवाब

अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने अमित शाह से पूछा कि वह दिल्ली के लोगों से इतनी नफरत क्यों करते हैं?

  • अरविंद केजरीवाल और अमित शाह के बीच बयानबाजी जारी है.
  • अमित शाह अरविंद केजरीवाल को कई मुद्दों पर घेर रहे हैं.
  • केजरीवाल भी उनको करारा जवाब देते नजर आ रहे हैं.

दिल्ली में विधानसभा चुनाव (Delhi Elections 2020) करीब है और इस दौरान गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को कई मुद्दों पर घेरते नजर आ रहे हैं. अरविंद केजरीवाल भी अमित शाह के बयानों पर बराबर जवाब दे रहे हैं. हालांकि मनोज तिवारी भी इसमें पीछे नहीं हैं, वे भी केजरीवाल को घेरने में चूक नहीं रहे. मंगलवार को अमित शाह ने केजरीवाल का एक वीडियो ट्वीट कर लिखा, ”अरविंद केजरीवाल जी आपने मुझे दिल्ली सरकार द्वारा संचालित स्कूल देखने के लिए बुलाया था. कल दिल्ली भाजपा के आठो सांसद अलग-अलग स्कूल में गए और देखिए इनका क्या हाल है…”

केजरीवाल के जवाब का अमित शाह ने तो रिप्लाई नहीं किया लेकिन बीजेपी नेता मनोज तिवारी ने उन पर तीखा वार किया है. मनोज तिवारी ने ट्विटर पर लिखा, ”केजरीवाल जी, अमित शाह जी ने आपकी शिक्षा नीति में कमियां बताईं तो आपने उसे जनता का अपमान बता दिया. आप कब से दिल्ली की जनता हो गए? ये अहंकार ही है कि आप ‘इंदिरा इज इंडिया…’ जैसी बात कर रहे हैं. आपकी शिक्षा नीति पूरी तरह फेल साबित हुई है. अब लोगों को भ्रमित करना बंद कर दीजिए.

आपको बता दें कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए राष्ट्रीय राजधानी में एक ही चरण में 8 फरवरी को मतदान होगा. मतदान के बाद 11 फरवरी को नतीजे घोषित कर दिए जाएंगे. दिल्ली में विधानसभा की 70 सीटें हैं जिसमें से 58 सामान्य श्रेणी की है जबकि 12 सीटें अनुसूचित जाति के लिये आरक्षित हैं. दिल्ली में विधानसभा चुनाव 2015 में AAP ने ऐतिहासिक जीत हासिल कर राष्ट्रीय राजधानी की 70 में से 67 विधानसभा सीटों पर कब्ज़ा किया था, और शेष तीनों सीटें BJP के खाते में आई थीं.

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

निर्भया केस: दोषी अक्षय ने SC में दाखिल की क्यूरेटिव याचिका, मुकेश और विनय की पिटीशन कोर्ट पहले ही कर चुका है खारिज

नागरिकता कानून पर केरल विधानसभा में हंगामा: MLAs ने रोका गवर्नर का रास्ता, ‘CAA रद्द करो’ के दिखाए बैनर, सदन से किया वॉकआउट