in

भारत का जितना बजट, उससे ज्यादा शिक्षा पर ही खर्च कर देता है चीन; अमेरिका का रक्षा बजट हमारे सालभर के खर्च से भी दोगुना

देशभर के लोगों की नजर एक फरवरी को पेश होने वाले बजट पर टिकी है। पिछले साल यानी 2019-20 के लिए 27 लाख 86 हजार 349 करोड़ रुपए का बजट पेश किया गया था, जो 2018-19 के बजट से 13.4% ज्यादा था। पिछले साल हमारा जितना बजट था, उससे ज्यादा तो चीन सिर्फ शिक्षा पर खर्च करता है। चीन के सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, अक्टूबर 2019 तक उसने शिक्षा पर 2876.8 अरब युआन (29 लाख 58 हजार करोड़) खर्च किए। 2018-19 में हमारा रक्षा बजट 4 लाख 31 हजार 011 करोड़ रुपए था। इसमें से 3 लाख 5 हजार 296 करोड़ रुपए तीनों सेनाओं के लिए थे। दूसरी ओर, अमेरिका का रक्षा बजट 2019-20 में 718 अरब डॉलर (51.21 लाख करोड़ रुपए) का था, जो हमारे कुल बजट का लगभग दोगुना है।


रक्षा : चीन हमसे 4 गुना तो अमेरिका 17 गुना ज्यादा खर्च करता है
दुनिया में अमेरिका रक्षा पर सबसे ज्यादा खर्च करता है। अमेरिका के 2019-20 के बजट में डिफेंस खर्च के लिए 718 अरब डॉलर यानी 51.21 लाख करोड़ रुपए रखे गए। चीन का रक्षा बजट भी 177.6 अरब डॉलर (12.61 लाख करोड़ रुपए) है। अगर अमेरिका और चीन के रक्षा बजट की भारत के रक्षा बजट से तुलना की जाए तो भारत के मुकाबले अमेरिका रक्षा पर 17 गुना और चीन 4 गुना खर्च करता है। भारत का रक्षा बजट 2019-20 में 3 लाख 5 हजार 296 करोड़ रुपए था। वहीं पाकिस्तान ने 2019-20 के बजट में रक्षा के लिए भारतीय करंसी के हिसाब से 53 हजार 164 करोड़ और बांग्लादेश ने 27 हजार 340 करोड़ रुपए रखे थे।

देशबजट या खर्च (रुपए में)
भारत3.05 लाख करोड़
अमेरिका51.21 लाख करोड़
चीन12.61 लाख करोड़
पाकिस्तान53 हजार164 करोड़
बांग्लादेश27 हजार 40 करोड़


शिक्षा : अमेरिका का बजट भारत से 4 गुना ज्यादा, चीन अमेरिका से भी 7 गुना ज्यादा खर्च करता है
2019-20 में हमारे देश का शिक्षा बजट 94 हजार 854 करोड़ रुपए था। जबकि, अमेरिका का शिक्षा बजट 64 अरब डॉलर (4.56 लाख करोड़ रुपए) है। यानी अमेरिका का शिक्षा बजट भारत की तुलना में करीब 4 गुना है। चीन के सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, अक्टूबर 2019 तक उसने 29.58 लाख करोड़ रुपए खर्च किए थे।

देशबजट या खर्च (रुपए में)
भारत94 हजार 854 करोड़
अमेरिका4.56 लाख करोड़
चीन29.58 लाख करोड़
पाकिस्तान3 हजार 564 करोड़
बांग्लादेश45 हजार 100 करोड़


हेल्थ : अमेरिका का बजट 88 लाख करोड़ रुपए, भारत का सिर्फ 65 हजार करोड़
पिछले बजट में सरकार ने स्वास्थ्य के लिए 64 हजार 999 करोड़ रुपए रखे थे। भारत की आबादी 131 करोड़ है। अगर हेल्थ बजट में प्रति व्यक्ति खर्च निकाला जाए, तो भारत में हर व्यक्ति के स्वास्थ्य पर सालाना 500 रुपए से भी कम खर्च किए गए। जबकि, अमेरिका का हेल्थ बजट 88.66 लाख करोड़ रुपए (1,248.8 अरब डॉलर) है। चीन ने अक्टूबर 2019 तक यानी 10 महीने में ही स्वास्थ्य पर 1.46 लाख करोड़ रुपए (2,876.8 अरब युआन) खर्च कर दिए।

देशबजट या खर्च (रुपए में)
भारत64 हजार 999 करोड़
अमेरिका88.66 लाख करोड़
चीन1.46 लाख करोड़
पाकिस्तान510 करोड़
बांग्लादेश4 हजार 866 करोड़

Budget 2020

Report

What do you think?

Written by Bhanu Pratap

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

6000mAh बैटरी वाले Samsung Galaxy M30s की कीमत हुई बेहद कम

1800 किलोमीटर दूर बिहार से आकर दिल्ली के शाहीन बाग़ में CAA के समर्थन में अकेला बैठा बुजुर्ज़ शख़्स !