in ,

ट्रैवल एजेंट से धोखाधड़ी के आरोप में अजहरुद्दीन पर FIR, पूर्व क्रिकेटर ने मामले को झूठा बताया

औरंगाबाद में ट्रैवल एजेंट से धोखाधड़ी करने के आरोप को भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और पूर्व सांसद मुहम्मद अजहरुद्दीन ने झूठा बताया है। उन्होंने कहा है कि वे इस मामले को लेकर अपनी कानूनी टीम से परामर्श कर रहे हैं और इसके खिलाफ जरूरी कार्रवाई करेंगे। बता दें किएक स्थानीय ट्रैवल एजेंट से करीब 21 लाख रुपये की धोखाधड़ी करने के आरोप में अजहरुद्दीन और दो अन्य के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई है।

सिटी चौक पुलिस स्टेशन के जांच अधिकारी एडी नागरे ने बताया, ‘हमने मुजीब खान (औरंगाबाद), सुधीश अविक्कल (केरल) और मुहम्मद अजहरुद्दीन (हैदराबाद) के खिलाफ एफआइआर दर्ज की है। अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है और जांच जारी है।’

यह मामला ‘दानिश टूर एंड ट्रैवल्स’ के मालिक शहाब वाई. मुहम्मद (49) की शिकायत पर दर्ज किया गया है। शहाब बंद हो चुकी जेट एयरवेज के पूर्व एक्जीक्यूटिव भी हैं। शिकायत के मुताबिक नौ नवंबर से 12 नवंबर, 2019 के बीच अविक्कल ने अजहरुद्दीन और खुद के लिए कई विदेशी शहरों के लिए टिकट बुक और निरस्त कराए थे।

अजहरुद्दीन और मुजीब दोनों ही शहाब से बात करने से बच रहे हैं

आपातस्थिति का हवाला देकर अविक्कल ने किराये के पैसे नहीं दिए और बाद में देने का वादा किया। अविक्कल की ओर से अजहरुद्दीन के निजी सचिव मुजीब खान ने पैसे देने का आश्वासन दिया था। लेकिन इसके बावजूद उन्हें अभी तक पैसे नहीं मिले। अजहरुद्दीन और मुजीब दोनों ही शहाब से बात करने से बच रहे हैं।

मुहम्मद से अजहरुद्दीन और खान बात करने से बचते रहे

मुहम्मद ने अजहरुद्दीन और खान के साथ बात करने की कोशिश की, लेकिन वे उससे बात करने से बचते रहे। हालांकि, 24 नवंबर को अविक्कल ने कहा कि वह ट्रैवल एजेंसी के पक्ष में 21,45,000 रुपये का पूरा भुगतान कर रहा है। अविक्कल ने मुहम्मद को व्हाट्सएप पर राशि के लिए दानिश टूर्स एंड ट्रैवल्स को किए गए भुगतान की चेक की एक प्रति भेजी, लेकिन आज तक, उसे कोई भुगतान नहीं किया गया है, जिससे उसे पुलिस शिकायत दर्ज करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

दावोस में CAA पर बोले सद्गुरु जग्गी वासुदेव- कोई भी वहां निवेश नहीं करेगा, जहां सड़कों पर बसें जल रही हों

क्या आप जानते हैं, सुभाषचंद्र बोस ने ‘आजाद हिंद फौज’ से पहले भी किया था एक फौज का गठन?