in

हॉर्स ट्रेडिंग के आरोप में केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के खिलाफ केस दर्ज

कांग्रेस की मांग- जांच प्रभावित होने का शक हो तो शेखावत को गिरफ्तार करें

राजस्थान में विधायकों की खरीद-फरोख्त का ऑडियो सामने आने के बाद राजनीति और गरमा गई है। केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, कांग्रेस विधायक भंवरलाल शर्मा और भाजपा नेता संजय जैन के खिलाफ स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने केस दर्ज किया है। कांग्रेस के मुख्य सचेतक महेश जोशी की शिकायत के बाद एफआईआर दर्ज की गई। 

भाजपा की भूमिका संदेह के घेरे में: कांग्रेस

कांग्रेस ने शुक्रवार को फेयरमॉन्ट होटल के बाहर प्रेस वार्ता की। इसमें प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा मौजूद रहे। सुरजेवाला बोले कि वे (भाजपा) 25-35 करोड़ रुपए में विधायकों की निष्ठा खरीदने का प्रयास कर रहे थे। इसमें भाजपा के नेताओं की भूमिका संदेह के घेरे में है। कल शाम और आज तक जो टेप सामने आए हैं, उनसे एक बात साफ है कि भाजपा ने कांग्रेस सरकार को गिराने और विधायकों को खरीदने का प्रयास किया।  

सुरजेवाला ने यह भी कहा कि कोरोना से लड़ने की बजाय, भाजपा सत्ता पाने में लगी है। मध्य प्रदेश में भी ऐसा किया गया। पूरा देश कोरोना से लड़ रहा है, लेकिन वे कांग्रेस की सरकार गिराने के प्रयासों में लगे हैं। जो टेप सामने आए हैं, उसमें केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, कांग्रेस विधायक भंवरलाल शर्मा और भाजपा नेता संजय जैन की बातचीत सामने आई है। पैसा लेकर सरकार गिराने की बात की जा रही है। 

कांग्रेस के दो विधायकों की सदस्यता निलंबित

कांग्रेस के विधायक भंवरलाल और पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित किया जा चुका है। इन लोगों को कारण बताओ नोटिस भी दिया गया है। 

केंद्रीय मंत्री के खिलाफ केस दर्ज हो
सुरजेवाला ने यह भी कहा कि टेप की जांच शुरू की जाए। अगर ऐसा लगता है कि केंद्रीय मंत्री जांच को प्रभावित कर सकते हैं तो उनके खिलाफ वॉरंट जारी हो और उन्हें गिरफ्तार किया जाए। हम चाहते हैं कि इस पूरे मामले में सचिन पायलट सामने आएं और भाजपा को कांग्रेस विधायकों की लिस्ट देने की बात पर सफाई दें।

क्या है वायरल ऑडियो टेप में?

गुरुवार देर रात जो ऑडियो वायरल हुए वे विधायकों की खरीद-फरोख्त से जुड़ी बातचीत के बताए जा रहे हैं। इन ऑडियो में एक व्यक्ति खुद को संजय जैन और दूसरा खुद को गजेंद्र सिंह बता रहा है। वहीं, बातचीत में भंवरलाल शर्मा नाम का भी जिक्र आया है। दो ऑडियो में बातचीत राजस्थानी में है। जबकि तीसरे में हिंदी और अंग्रेजी में बातचीत हो रही है। ऑडियो में बातचीत बहुत स्पष्ट नहीं है। ऑडियो में एक व्यक्ति कह रहा है कि जल्द ही 30 की संख्या पूरी हो जाएगी। फिर राजस्थानी में वह विजयी भव: की बात भी कह रहा है। एक व्यक्ति बातचीत के दौरान कह रहा है कि ‘हमारे साथी दिल्ली में बैठे हैं…वे पैसा ले चुके हैं। पहली किस्त पहुंच चुकी है।’ बातचीत के दौरान खुद को गजेंद्र सिंह बताने वाला व्यक्ति सरकार को घुटने पर टिकाने की बात कर रहा है।

वे लोग, जिनके खिलाफ कांग्रेस ने कार्रवाई की मांग की
गजेंद्र सिंह शेखावत: जोधपुर से भाजपा सांसद और केंद्र सरकार में मंत्री हैं। मोदी और शाह के करीबी माने जाते हैं। राजस्थान में चल रही सियासी उठापटक में शेखावत काफी एक्टिव हैं।
भंवरलाल शर्मा: पायलट खेमे के विधायक हैं। फिलहाल मानेसर स्थित होटल में बताए जा रहे हैं। चूरू जिले के सरदारशहर से विधायक हैं। अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा के अध्यक्ष भी हैं।
संजय जैन: पेशे से चार्टड अकाउंटेंट बताए जा रहे हैं। जैन भाजपा के पुराने कार्यकर्ता रहे हैं। भाजपा नेता ओम माथुर खेमे का माना जाता है। बीच में वे वसुंधरा राजे के करीबी भी रहे, लेकिन किसी बात को लेकर वसुंधरा के सबसे खास प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी से संजय की ठन गई। इसके बाद वसुंधरा से उनकी दूरियां बढ़ गई और जैन ने दूसरा खेमा पकड़ लिया।
पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह: यह पालयट के बेहद करीबी लोगों में हैं। गहलोत सरकार में पर्यटन मंत्री थे। लेकिन, सचिन पायलट के साथ ही गहलोत ने इन्हें मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया था। भरतपुर जिले के डीग कुम्हेर से विधायक हैं।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply
  1. Thank you, I have just been searching for information about this topic for a long time and yours is the best I’ve came upon so far. However, what concerning the conclusion? Are you positive concerning the source?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

विधायकों की खरीद-फरोख्त के ऑडियो पर कांग्रेस बोली- केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के खिलाफ केस दर्ज हो

Amitabh Bachhan

अमिताभ बच्चन ने फैन्स का आभार व्यक्त कर लिखा- ‘अस्पताल में पाबंदियां, ज्यादा कुछ नहीं कह सकता’