in ,

छतीसगढ़ में ठंड के चलते मुख्यमंत्री ने दिए सभी कलेक्टर को निर्देश- जगह-जगह अलाव जलवाएं

  • छत्तीसगढ़ के लगभग सभी जिले शीत लहर की चपेट में 
  • मैनपाट में शून्य के आंकड़े पर पहुंचा पारा 

छत्तीसगढ़ में अचानक बढ़ी ठंड के चलते अब सरकार जरूरी कदम उठाने जा रही है। सोमवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सभी कलेक्टर को पुख्ता इंतेजाम करने को कहा। इसकी जानकारी उन्होंने ट्वीटर के माध्यम से सार्वजनिक भी की। मुख्यमंत्री ने कहा कि- प्रदेश में शीत लहर की स्थिति को देखते हुए मैंने सभी जिला कलेक्टर एवं नगरीय निकायों को समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं ताकि प्रदेश की जनता को किसी प्रकार की कोई असुविधा न हो। 


शीत लहर से न हो जनहानि 
सीएम ने ट्वीटर पर लिखा कि समस्त ज़िला कलेक्टर को यह निर्देश दिए गए हैं कि वे स्वयं महत्वपूर्ण स्थलों में अलाव जलाने की व्यवस्था का निरीक्षण करेंगे साथ ही यह भी सुनिश्चित करेंगे कि रैन बसेरा या नाइट शेल्टर में पर्याप्त मात्रा में कंबल, चादर एवं अन्य आवश्यक सामग्री उपलब्ध रहे। प्रदेश में शीत लहर के कारण किसी प्रकार की जनहानि न हो। आवश्यकता पड़ने पर नए रैन बसेरा की व्यवस्था की जाए।


जशपुर में स्कूल बंद 
जशपुर में ठंड ने बीस साल का रिकार्ड तोड़ दिया है। बीते शनिवार की सुबह साल की सबसे सर्द सुबह रही। न्यूनतम तापमान का पारा 1.1 डिग्री तक गिर गया। रविवार को भी न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस पर रहा। बढ़ी हुई इस ठंड को देखते हुए जिले के सभी सरकारी व प्राइवेट स्कूलों में शीतकालीन छुट्टियां 2 जनवरी तक के लिए बढ़ा दी है। 29 दिसंबर को स्कूल शुरू होने थे। 

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

नौसेना ने बैन किया Facebook, सैनिकों के स्मार्टफोन इस्तेमाल करने पर भी लगाया प्रतिबंध

उद्धव सरकार का पहला कैबिनेट विस्तार: अजित पवार 37 दिन में दूसरी बार डिप्टी सीएम बने, आदित्य ठाकरे समेत 36 मंत्री शपथ लेंगे