in ,

कोरोना ने तोड़े अब तक के सारे रिकॉर्ड, देश में पिछले 24 घंटों में मिले 62 हजार से अधिक मरीज.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, भारत में 24 घंटों में कोविड-19 के 62,538 नए केस सामने आए है, जिससे देश में कोरोना केसों की संख्या 20,27,075 तक पहुंचा गई है। अब तक कुल 13,78,106  मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं।अब तक 41,585  मरीजों की मौत हो चुकी है। देश में कोरोना संक्रमण बढ़ने की रफ्तार अब अमेरिका और ब्राजील जैसी होती जा रही है। भारत की कम से कम आधी आबादी कोरोना के चलते इस समय विभिन्न प्रकार के लॉकडाउन में है – पिछले कुछ दिनों में विभिन्न राज्य सरकारों द्वारा जारी किए गए आदेशों के अनुसार पूर्ण, आंशिक या सप्ताहांत लॉकडाउन लगाया गया है।

उधर, वैश्विक महामारी से गंभीर रूप से जूझ रहे लैटिन अमेरिकी देश ब्राजील में गुरुवार के आंकड़े के अनुसार 24 घंटों के दौरान कोरोना संक्रमण के 51,603 नये मामले सामने आने के साथ ही संक्रमितों की संख्या 28 लाख का आंकड़ा पार कर 28,01,921 हो गयी है।

ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में पिछले 24 घंटों के दौरान इस महामारी से 1154 लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 95 हजार के आंकड़े को पार कर 95,819 पहुंच गयी है। ब्राजील में 19,70,767 लोग कोरोना संक्रमण से पूरी तरह ठीक भी हुए हैं। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) की ओर से जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक कोरोना संक्रमितों की संख्या के मामले में ब्राजील (28.01 लाख) पहले से ही अमेरिका (47.68 लाख) के बाद दूसरे स्थान पर है। कोरोना के कारण हुई मौतों की संख्या वाली सूची में भी ब्राजील अमेरिका के बाद दूसरे स्थान पर आ गया है।

ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो लगातार कोरोना वायरस को एक सामान्य फ्लू बताते आए हैं जिसके कारण उन्हें कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा है। बोलसोनारो स्वयं भी कोरोना से संक्रमित होने के बाद ठीक हुए हैं। गौरतलब है कि ब्राजील में कोरोना संक्रमण का पहला मामला 26 फरवरी को सामने आया था।

Report

What do you think?

Written by Bhanu Pratap

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

चीन की हरकतों पर नजर रखने के लिए सुरक्षा एजेंसियों को चाहिए 6 डेडिकेटेड सैटेलाइट.

बच्चे के संपूर्ण विकास के लिए जरूरी है स्कूल में हाजिरी, जानें क्या कहता है यह अध्ययन.