in

देवप्रभाकर शास्त्री ‘दद्दाजी’ पंचतत्व में विलीन

अंतिम यात्रा में हजाराें लाेग शाामिल हुए, आशुतोष राणा और संजय पाठक ने अर्थी को कंधा दिया

गृहस्थ संत पंडित देवप्रभाकर शास्त्री ‘दद्दाजी’ सोमवार को पंचतत्व में विलीन हो गए। उन्हें राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। इससे पहले उनकी अंतिम यात्रा कटनी स्थित दद्दा आश्रम से निकली। इसमें हजारों लोग शामिल हुए। अर्थी को कंधा एक्टर आशुतोष राणा और विधायक संजय पाठक ने दिया। अंतिम यात्रा में उमड़ी भीड़ में कहीं भी सोशल डिस्टेंसिंग नजर नहीं आई।

‘दद्दाजी’ ने रविवार को कटनी स्थित दद्दा आश्रम में रात 8:27 बजे देह त्यागी। वे बीते कुछ दिनों से बीमार थे। उन्हें 8 मई को माइनर पैरालिसिस अटैक आने पर दिल्ली ले जाया गया था। शनिवार शाम गंगाराम अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद उन्हें एयर एंबुलेंस से जबलपुर होते हुए कटनी लाया गया था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शोक व्यक्त व्यक्त करते हुए कहा- ‘दद्दाजी’ की अंत्येष्टि राजकीय सम्मान के साथ करने की बात कही। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ श्रद्धांजलि देते हुए बोले- ‘दद्दाजी’ का निधन अपूरणीय क्षति है। अभिनेता आशुतोष राणा और राजपाल यादव दद्दा जी के प्रमुख शिष्य रहे हैं।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

तीन मंजिला मकान में आग लगने से 7 लोगों की मौत, इनमें से 3 बच्चों की झुलसकर मौत हुई; 11 लोगों को रेस्क्यू किया गया

एक लाख के पार पहुंची कोरोना मरीजों की संख्या, अब तक 3163 लोग गंवा चुके जान