in ,

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए घरेलु आयुर्वेदिक उपाय

आज हमारे देश सहित पूरी दुनियाँ कोरोना महामारी से लड़ रही है, जिस पर काबू करने के निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं. इन प्रयासों के बीच एक सुझाव सबसे ज्यादा सुनने मिल रहा है कि सभी लोग अपनी इमुनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) का विकास करें और न केवल कोरोना बल्कि समस्त रोगों से लड़ने के लिए शरीर को मजबूत बनाएं.

चूँकि इस लॉक डाउन में हम बाहर जाकर दवाइयां और डाइट सप्लीमेंट खरीद नही सकते, तो आइये आज हम जानते हैं कि हमारे घर में किस तरह इम्युनिटी बढ़ा सकते हैं.

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए घरेलु आयुर्वेदिक उपाय

  • अदरक / सोंठ –

अदरक और सोंठ में रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए बहुत कारगर तत्व होते हैं, जो लगातार सेवन करने से
आपके श्वास कास सहित जठराग्नि सम्बन्धी रोगों को भी ख़त्म कर देते हैं.

  • लहसुन –
    लहसुन एक असरदार एंटीबायोटिक है, लहसुन के रोजाना प्रयोग से आपकी इम्युनिटी जबरजस्त तरीके से बढ़ेगी और यह आपको छोटे मोटे तो ठीक, कैंसर जैसे रोगों से भी लड़ने की ताकत देता है.
  • गुनगुना पानी –
    गुनगुना पानी पीने से आपकी इम्युनिटी मजबूत रहती है, और यह शरीर की अच्छे से सफाई भी करता है. गुनगुना पानी रोज पीने से कई प्रकार के रोगाणु शरीर से निकल जाते हैं.
  • दालचीनी –
    यह एक गुणकारी औषधि है, जिसको मसाले के रूप में रोज उपयोग करने से खून से सम्बन्धी समस्त समस्याओं का निवारण करता है. दालचीनी प्राचीनकाल से जोड़ों के लिए दर्द निवारक औषधि के रूप में उपयोग की जाती है, जो की मधुमेह (डायबिटीज) को भी नियंत्रित करती है.
  • तुलसी –
    आयुर्वेद में तुलसी को रोगों के लिए “सुरसा” कहा जाता है. क्योंकि यह सभी तरह के रोगाणुओं का भक्षण करके शरीर को रोग मुक्त रखती है. इसलिए यह इम्युनिटी के लिए किसी वरदान से कम नही है.
  • हल्दी –
    हल्दी एक एंटीबायोटिक कॉस्मेटिक औषधि है. हल्दी खून को लगातार साफ़ रखती है जिससे खून में आने वाले जीवाणुओं का नाश करते हुए रोगों के सामने शरीर को एक अभेद्य किला बना देती है.

इन औषधीय गुणों वाली जडीबूटियों को हम सभी भारतीय परिवार अपने घर में खाने के मसाले और कच्चे पदार्थों के रूप में लगातार उपयोग करते हैं, लेकिन इनकी मात्रा एवं शुद्धता का भी विशेष प्रभाव पड़ता है. इसलिए आज से इन तत्वों का उपयोग बढ़ाइए, और अपने परिवार सहित स्वस्थ रहिए.

परामर्श – डॉ कविता उपाध्याय चौबे (BAMS – MA Yoga) – उज्जैन (मप्र)

Report

What do you think?

Written by Aviral Jain

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

भारत में कोरोना का बैक गियर, हो सकता है पहले से ज्यादा खतरनाक

इस लॉक डाउन में खुश कैसे रहें? – मनोविज्ञान