in

भागलपुर स्टेशन पर भोजन के पैकेट के लिए मची लूट, सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां

कोरोना संकट के इस दौर में दूसरे राज्यों से प्रवासी मजदूर श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से बिहार लौट रहे हैं। सरकार और रेल प्रशासन लोगों को सुविधाएं देने का दावा कर रही है लेकिन भागलपुर जंक्शन की एक तस्वीर यह दिखाती है कि हकीकत इसके ठीक उलट है। बुधवार को श्रमिक स्पेशल ट्रेन राजस्थान से प्रवासी मजदूरों को लेकर पूर्णिया जा रही थी। इसी दौरान भागलपुर स्टेशन पर ट्रेन थोड़ी देर के लिए रुकी। यहां मजदूरों के लिए खाने के पैकेट और पानी का इंतजाम किया गया था।

भागलपुर जंक्शन पर ट्रेन रुकते ही सभी मजदूर प्लेटफॉर्म पर उतर आए। खाना बांटने वाले रेल कर्मचारी लोगों से अपील करते रहे कि दो मिनट रुक जाइये, सभी को बारी-बारी से पैकेट दिया जाएगा। लोगों ने एक-दो मिनट तो इंतजार किया लेकिन भूख की वजह से सब्र का बांध टूट गया। लोगों ने रस्सी फांदकर भोजन के पैकेट के लिए लूट मचा दी। इसमें कुछ लोगों को हल्की चोटें भी आई है। हालांकि, सभी लोग ठीक हैं। लेकिन, इस घटना ने साफ जाहिर कर दिया है कि श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आ रहे लोग किस तरह बिहार लौट रहे हैं।

रेल प्रशासन का कहना है कि यहां लोगों के लिए पूरा इंतजाम किया गया था। लेकिन अचानक से लोग खाने का पैकेट लेने के लिए टूट पड़े। बाद में सभी को खाना और पानी देकर पूर्णिया के लिए रवाना किया गया।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

भोपाल में 30 नए केस, संक्रमितों की संख्या 1301 हुई

कंटेनमेंट एरिया बना राजभवन, टल सकता है शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार