in

आत्महत्या करने नदी में कूदा युवक, 3 दिन तक भूखा-प्यासा जंगली झाड़ियों के बीच फंसा रहा.

‘जाको राखे साईयां मार सके ना कोय’ यह देखने को मिला अहमदाबाद में। यहां साबरमती नदी में एक युवक ने खुदकुशी करने के लिए छलांग लगाई। लेकिन तीन दिन बाद नदी के किनारे लगी झाड़ियों से युवक को निकाल लिया गया। युवक ने तीन दिन पहले साबरमती नदी में छलांग लगाई थी। लेकिन वह किनारे लगी जंगली झाड़ियों के बीच फंसकर रहा गया। युवक झाड़ियों के बीच तीन दिन तक भूखा-प्यासा फंसा रहा। एक मछुआरे की नजर पड़ने पर फायर ब्रिगेड की मदद से उसे बाहर निकाल कर अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

झाड़ियों में फंसे व्यक्ति को देखकर लोगों ने नजर अंदाज कर दिया। लोगों ने सोचा की मछुआरा मछली पकड़ने गया होगा। लोगों ने तीन दिन पहले यहीं फंसे हुए देखा था। इसी तरह कई लोग देखकर आते-जाते रहे। लेकिन, आज एक मछुआरे की नजर इस पर पड़ी तो उसे शक हुआ कि ऐसी खतरनाक जगह जाकर कोई मछली क्यों पकड़ेगा। जब उसने गौर से देखा तो त्रिलोक सिंह छटपटाता हुआ नजर आया। मछुआरे ने फायर ब्रिगेड को फोन किया और इस तरह उसकी जान बचा ली गई।

जानकारी के अनुसार, इस व्यक्ति की मानसिक हालत ठीक नहीं है। उसे पहले भी कई बार आसपास घूमते देखा गया था। अभी इस व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस की इस मामले की जांच करेगी व्यक्ति के आत्महत्या की कोशिश के कारण की पुलिस जांच करेगी। अभी इस व्यक्ति के बारें में ज्यादा जानकारी नहीं मिली है। पुलिस परिजनों की तलाश कर पूछताछ करेगी साथ ही मानसिक हालात खराब होने की स्थिति में इलाज कराया जाएगा। जिससे आगे इस तरह की घटना से बचाया जा सके।

Report

What do you think?

Written by Bhanu Pratap

Comments

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Loading…

0

प्राइवेट ट्रेन चलाने को रेलवे की कोशिश तेज, इन 23 कंपनियों ने दिखाई दिलचस्पी, जानें कब से चलेंगी ये ट्रेनें.

फोन अनलॉक होने पर भी बिना आपकी मर्जी के नहीं चलेगा, फॉलो करें ये कमाल की ट्रिक.