in

बांग्लादेश से तस्करी कर लाया गया 1.68 करोड़ का सोना बरामद

डीआरआई ने सोना तस्करी के अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क का खुलासा किया है। शुक्रवार को गया जंक्शन से दो तस्करों को चार किलोग्राम सोने के साथ गिरफ्तार किया गया। बरामद सोने की कीमत बाजार भाव से 1.68 करोड़ रुपए आंकी गई है। तस्करों के तार बांग्लादेश से जुड़े हैं और दोनों सोना लेकर उत्तर प्रदेश के जौनपुर जा रहे थे।

डायरेक्टरेट ऑफ रेवन्यू इंटेलिजेंस (डीआरआई) को सूचना मिली कि हावड़ा से दो तस्कर भारी मात्रा में सोना लेकर दून एक्सप्रेस से रवाना हुए हैं। टीम ने गया जंक्शन पर घेराबंदी की। दून एक्सप्रेस के गया जंक्शन पहुंचने पर जेनरल डिब्बे में बैठे दो लोगों की तलाशी गई। दोनों के पास से चार किलोग्राम के करीब सोना बरामद हुआ।

पेट्रोपोल सीमा से पारा कराया गया सोना
डीआरआई को तस्करों से पूछताछ में कई अहम जानकारी मिली है। भारत-बांग्लादेश के पेट्रोपोल सीमा पर तस्करों को सोना सौंपा गया था। वहां से दोनों हावड़ा स्टेशन पहुंचे और दून एक्सप्रेस से जौनपुर के लिए चल पड़े। इससे पहले भी दोनों कई दफे सोने की तस्करी कर चुके हैं। हर खेप के लिए इन्हें 65-65 हजार रुपए मिलते थे। डीआरआई ने इस रैकेट में शामिल अन्य बदमाशों को पर कार्रवाई के मद्देनजर गिरफ्तार तस्करों के नाम का खुलसा नहीं किया है।

50 लाख नगद व हवाला से किया पेमेंट
सोना तस्करी का यह अंतरराष्ट्रीय रैकेट काफी बड़ा है। तहकीकात में जो बातें सामने आई है वह चौंकाने वाली है। 1.68 करोड़ मूल्य के सोने के लिए 50 लाख रुपए नगद दिए गए। वहीं बाकी के रकम का भुगतान हवाला के माध्यम से किया गया। इस रैकेट में उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तस्कर शामिल हैं।

आयात पर 20 प्रतिशत लगता है ड्यूटी
सोने के आयत पर भारत में मोटी ड्यूटी लगती है। जानकारी के मुताबिक सोने के आयात पर 20 प्रतिशत कस्टम ड्यूटी देना होता है। कस्टम ड्यूटी बचाने के अलावा इसमें काली कमाई आसानी से खप जाती है।

Report

What do you think?

Written by Bhanu Pratap

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

आर्मी चीफ मुकंद नरवाने का बड़ा बयान, कहा- ‘आदेश मिलेगा तो POK के लिए करेंगे कार्रवाई’

ऑस्ट्रेलिया भीषण आग: एक अरब से ज्यादा जानवरों की मौत, कई विलुप्त होने की कगार पर