in

बुरहानपुर में आधे घंटे तेज बारिश; खतरे को देखते हुए इंदौर संभाग के 8 जिलों में मुनादी कराई जा सकती है

प्रदेश के 16 जिलों में ऑरेंज-यलो अलर्ट

निसर्ग चक्रवात का असर मालवा-निमाड़ में भी दिखाई देने लगा है। रात में बारिश के बाद बुधवार दोपहर बुरहानपुर में आधे घंटे फिर से तेज बारिश हुई। इसके कारण लालबाग रोड समेत पूरा शहर तरबतर हो गया। मौसम विभाग ने दो दिन बारिश और आंधी चलने की चेतावनी जारी की है। बड़वानी में भी सुबह से ही बूंदाबांदी हो रही है। वहीं, कमिश्नर आकाश त्रिपाठी ने इंदौर संभाग के 8 जिलों में हालात को देखते हुए क्षेत्र में मुनादी करने के निर्देश जारी किए हैं। जबकि उज्जैन में तूफान को देखते हुए कलेक्टर ने जिलेवासियों से घरों में रहने की अपील की है। इधर, मौसम विभाग ने प्रदेश के 16 जिलों में यलो-ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। पर्यटन स्थलों को लेकर भी चेतावनी जारी की गई है।

चक्रवाती तूफान निसर्ग का मध्यप्रदेश में असर शुरू हो गया है, इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर, चंबल और जबलपुर संभागों के कई शहरों में 1 इंच से ज्यादा बारिश हुई है। राजधानी भोपाल में बुधवार को दोपहर बूंदाबांदी हुई और 25 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा भी चली। शाम तक बारिश हो सकती है। मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला ने बताया कि निसर्ग आज यह अति तीव्र तूफान में बदल जाएगा। 

इन शहरों में यलो और ऑरेंज अलर्ट 
निसर्ग तूफान को देखते हुए मौसम विभाग ने रायसेन, नरसिंहपुर, होशंगाबाद, बुरहानपुर, बड़वानी, खरगोन, हरदा, अलीराजपुर, धार और खंडवा में यलो अलर्ट जारी किया है। वहीं, छिंदवाड़ा, सिवनी, बालाघाट, डिंडौरी, उमरिया और मंडला में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इन जिलों में 40-50 किमी की रफ्तार से तेज हवाएं चलेंगी। इन जिलों में हल्की बारिश और बिजली गिर सकती है। चक्रवाती तूफान के प्रभाव में भोपाल, सागर, विदिशा, सीहोर, देवास, बैतूल, शाजापुर, दमोह, शहडोल, अनूपपुर, कटनी और जबलपुर में हवाओं के साथ हल्की बारिश की संभावना जताई गई है। 

पर्यटन स्थलों को लेकर चेतावनी 
भेड़ाघाट, पेंच और ओंकारेश्वर में तेज हवाओं के बिजली गिरने की संभावना है। इसके साथ पचमढ़ी, कान्हा और अमरकंटक में हवाओं के साथ हल्की बारिश की आशंका है। ऐसे में यहां पर्यटकों को जाने से मना किया गया है। 

मुनादी के जरिए लोगों को सचेत करने के निर्देश
इंदौर कमिश्नर आकाश त्रिपाठी ने संभाग के 8 जिलों में तूफान को लेकर चेतावनी जारी की है। इसमें इंदौर, धार, झाबुआ, अलीराजपुर, खरगाेन, खंडवा बड़वानी और बुरहानुपर शामिल हैं। कमिश्नर ने तूफान को लेकर आदेश जारी करते हुए कहा कि आपदा प्रबंधन पूरी तरह से तैयार रहे। क्योंकि तूफान के कारण बिजली गिरने, हवाएं चलने और तेज बारिश की संभावना जताई गई है। ऐसे में हालात को देखते हुए जरूरत पड़ने पर संभाग के जिलों में लाउडस्पीकर से मुनादी करके, सोशल मीडिया के जरिए लोगों को सचेत करें। उन्होंने कहा कि कुछ जिलों में गेहूं और चने की खरीदी चल रही है। उपज को सुरक्षित स्थान तक नहीं पहुंचाया जा सका है, इसलिए जल्द उपज को वेयर हाउस तक पहुंचाया जाए। यदि ऐसा नहीं हो पा रहा है तो उपज को तत्काल तिरपाल से ढककर नुकसान से बचाएं।

उजैन: आकाशीय बिजली गिरने का खतरा
तूफान को देखते हुए उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह ने जिलेवासियों से अपील की कि सभी घर पर ही रहें। मौसम विभाग के अनुसार यहां 50 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है। बारिश के साथ ही आकाशीय बिजली की भी संभावना है। ऐसे में तेज हवाओं से पेड़ गिरने, कच्चे मकानों के खपरैल उड़ने, फसलों को नुकसान होने की संभावना है। ऐसे में जितना कम हो घरों से बाहर निकलें। इसके अलावा सिंह ने एसडीएम, तहसीलदार, पुलिस सहित अन्य अधिकारियों को मौके पर रहते हुए हर परिस्थिति पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं।

गुजरात और महाराष्ट्र से टकराया तूफान, बारिश की संभावना
मौसम वैज्ञानिक डॉ. गुरुदत्त मिश्रा ने बताया अरब सागर में बने चक्रवाती तूफान का असर बुरहानपुर जिले में भी हो रहा है। तूफान गुजरात और महाराष्ट्र से टकराया है। इस कारण आने वाले दो दिन बारिश होने की संभावना है। प्री-मानसून की गतिविधियां भी तेजी से हो रही हैं। इसमें आंधी-तूफान चलने की संभावना है।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

तूफान सबसे पहले अलीबाग से टकराया, 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चली हवाएं

मोदी सरकार की One Nation One Market अध्यादेश को मंजूरी, किसानों से जुड़े लिए गए तीन बड़े फैसले