in

हिन्दुस्तान शिखर समागम: आखिर हमारी एकता से डर क्यों रही है BJP- अखिलेश

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि हमारे गठबंधन से भाजपा में घबराहट दिखने लगी है और अब जनता के रुख से साफ है कि उसकी उल्टी गिनती शुरू हो गई है। इस बार जनता देश को नया प्रधानमंत्री देगी। सब कुछ ठीक रहा तो 2019 चुनावों में ऐतिहासिक नतीजा आएगा। प्रधानमंत्री का नाम पूछने वाली भाजपा पहले अपने नए प्रधानमंत्री का नाम बताए। 

अखिलेश ने यह बातें शनिवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में हुए चौथे ‘हिन्दुस्तान शिखर समागम’ में कहीं। खिलेश ने कहा कि दंगे इसलिए कम हो गए क्योंकि दंगा करने वाले सत्ता में आ गए। बदनाम कैसे किया जाता है यह भाजपा से सीखना चाहिए। 

महागठबंधन पर बोले

अखिलेश ने कहा कि सपा भाजपा को पांच सीटों, बसपा भाजपा को जीरो सीट पर, कांग्रेस भाजपा को दो सीट पर लाना चाहती है। क्योंकि पिछले चुनाव में हम लोगों को अलग-अलग इतनी ही सीटें मिली थीं। राहुल गांधी के साथ हमारे संबंध बहुत अच्छे हैं। जो रणनीति हमने फूलपुर, कैराना और गोरखपुर में अपनाई थी वहीं हम आगे के चुनाव के लिए अपनाएंगे। 

सपा में आंतरिक लोकतंत्र, अमर सिंह पर तंज 

अखिलेश ने शिवपाल यादव के मोर्चा बनाने व अंतकर्लह से जुड़े सवालों को टालते हुए कहा कि यह ध्यान भटकाने के लिए है। इतना जरूर कहा कि इससे बड़ा लोकतंत्र का और उदाहरण क्या होगा कि जो अलग राह चुनना चाहता है वो ले सकता है। 

पूरा देश बुआजी का हाल ले रहा है

बुआजी (बसपा प्रमुख मायावती) के हाल कैसे हैं? के सवाल पर अखिलेश ने मुस्कुराते हुए कहा कि यही तो राजनीति है कि आज पूरा देश बुआ का हाल-चाल पूछ रहा है। जिसके साथ समाजवादी लोग रहेंगे वह अच्छे ही होंगे। प्रधानमंत्री जैसा बड़ा सपना मैं नहीं देखता। अखिलेश से पूछा गया कि जब टिकट काटने की बात आई तो आपने पुरुष सांसदों के टिकट काटने के बजाए महिला सांसद डिंपल की सीट पर चुनाव लड़ने का ऐलान क्यों किया, इस पर अखिलेश ने कहा कि अगर ऐसा है तो डिंपल को ही कन्नौज से फिर चुनाव लड़ा दूंगा। 

Report

What do you think?

Written by Bhanu Pratap

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

26 जनवरी का इतिहास

Delhi Election 2020 : विरासत संभालने के लिए चुनाव मैदान में हैं कई नेताओं के बेटे-बेटी