in

इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने कहा- राहुल गांधी पांचवीं पीढ़ी के राजवंशी, केरल ने उन्हें चुनकर विनाशकारी काम किया

गुहा ने कहा, “कांग्रेस का पतन हो चुका है। जो आजादी के दौर की महान पार्टी थी, अब एक बेकार पारिवारिक कंपनी बन चुकी है। इसी पार्टी की वजह से देश में हिंदुत्व और अंधराष्ट्रभक्ति का माहौल बना है।” उन्होंने आगे कहा, “मेरी राहुल गांधी से कोई निजी दुश्मनी नहीं है। वे एक शिष्ट और सभ्य व्यक्ति हैं,लेकिन युवा भारत एक पांचवीं पीढ़ी के राजवंशी को नहीं चाहता। अगरमलयाली लोग 2024 में भी राहुल गांधी को चुनने का काम करते हैं, तो आप सिर्फ नरेंद्र मोदी को फायदा पहुंचा रहे हैं।’’

केरल लिटरेचर फेस्टिवल के दौरान रामचंद्र गुहा।

मोदी ने खुद को खड़ा किया, राहुल कभी ऐसा नहीं कर पाए
गुहा के मुताबिक, “नरेंद्र मोदी का सबसे बड़ा फायदा यह है कि वे राहुल गांधी नहीं हैं। मोदी ने खुद को बनाया है। उन्होंने एक राज्य 15 सालों तक चलाया, उनके पास अच्छा प्रशासनिक अनुभव है। वे कड़ी मेहनत करते हैं और कभी छुट्टी मनाने यूरोप नहीं जाते। विश्वास कीजिए, मैं यह सब गंभीरता से कह रहा हूं। अगर राहुल गांधी और ज्यादा समझदार हो भी जाएं, ज्यादा कड़ी मेहनत करने लगें, कभी यूरोप जाकर छुट्टियां न लें, फिर भी एक पांचवीं पीढ़ी के राजवंशी की तरह नुकसान में रहेंगे, क्योंकि वे खुद को खड़ा नहीं कर पाए।”

देश के जाने-माने इतिहासकारों में से एक गुहा ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा- “भारत ज्यादा लोकतांत्रिक और कम सामंतवादी बन रहा है। लेकिन गांधी परिवार को यह समझ नहीं आ रहा। आप (सोनिया) दिल्ली में हैं और आपका साम्राज्य छोटा होता जा रहा है। लेकिन फिर भी आपके चमचे आपको यही बताते हैं कि आप बादशाह हैं।”

‘जब तक गांधी परिवार राजनीति में रहेगा, तब तक नेहरू का नाम उछलता रहेगा’
गुहा ने अपने गुरू और समाज शास्त्री आंद्रे बेटील के कथन का उदाहरण देते हुए कहा कि जब तक गांधी परिवार राजनीति में रहेगा, तब तक देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का नाम वाद-विवाद में उठता रहेगा। आखिर क्यों हर बार मोदी कहते हैं कि नेहरू ने कश्मीर में क्या किया, चीन में क्या किया, तीन तलाक में क्या किया। इसलिए क्योंकि राहुल गांधी राजनीति में हैं। अगर राहुल गांधी गायब हो जाएं, तो मोदी के पास सिर्फ अपनी नीतियों और उनकी नाकामी के बारे में बताना बाकी रह जाएगा।

इस्लामिक कट्टरपंथ और राष्ट्रवाद की बयार से हिंदुत्व को बढ़ावा मिला
रामचंद्र गुहा के मुताबिक, भारतीय वामपंथियों के पाखंड की वजह से आज देश में राष्ट्रवाद की बयार है। लेफ्ट पार्टियों ने हमेशा भारत से ज्यादा दूसरे देशों को प्यार किया। दुनियाभर में राष्ट्रवाद और पड़ोसी देशों में इस्लामिक कट्टरपंथ को बढ़ावा मिलने की वजह से ही भारत में हिंदुत्व को हालिया समय में बढ़ावा मिला है।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

लक्ष्मी अग्रवाल – तेजाब और चीख़

दुनिया में घड़ियालों की संख्या में मप्र की चंबल पहले और बिहार की गंडक नदी दूसरे नंबर पर