in ,

महाराष्ट्र में फिर साधु और उनके सेवादार की हत्या, दोनों काे गला रेतकर मारा गया

महाराष्ट्र में पालघर के बाद अब नांदेड़ में शनिवार देर रात एक साधु और उनके सेवादार की निर्ममता से हत्या कर दी गई। साधु का शव आश्रम में और सेवादार का आश्रम से कुछ दूरी पर पड़ा मिला है। रविवार सुबह जब शिष्य मौके पर पहुंचे तो उन्हें वारदात का पता चला। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने दोनों के शवाें को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। बताया जा रहा है कि साधु और सेवादार की हत्या गला रेतकर की गई है। 

सद्गुरु शिवाचार्य नागठणकर नांदेड स्थित आश्रम में अपने शिष्यों के साथ रहा करते थे। रविवार सुबह जब शिष्य मौके पर पहुंचे तो शिवाचार्य का शव खून से लथपथ पड़ा हुआ था। इस पर शिष्यों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू ही की थी कि तभी पता चला कि आश्रम की सेवा करने वाले एक सेवादार का शव गांव में आश्रम से कुछ ही दूरी पर मिला है। दोनों की शनिवार रात ही हत्या का अंदेशा है। 

चोरी की नीयत से हत्या की आशंका
पुलिस को शुरुआती जांच में हत्या का कारण चोरी लग रहा है। पुलिस के मुताबिक, आश्रम में सारा सामान बिखरा पड़ा था। ऐसे में आशंका है कि चोरी का विरोध करने पर साधु और उनके सेवक की हत्या कर दी गई होगी। हालात को देखकर ऐसा ही लग रहा है। हालांकि यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा है कि अगर चोरी की नीयत से हत्या की गई तो सेवादार का शव आश्रम से दूर कैसे मिला। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

पालघर में दो साधुओं सहित 3 की हुई थी पीट-पीटकर हत्या 
इससे पहले पालघर जिले में करीब 200 लोगों की भीड़ ने चोर होने के शक में तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। घटना उस समय हुई, जब ये लोग मुंबई के कांदीवली से कार में सवार होकर गुजरात के सूरत जा रहे थे। बाद में मृतकों की पहचान चिकने महाराज कल्पवृक्षगिरी (70), सुशीलगिरी महाराज (35) और उनके चालक निलेश तेलगड़े (30) के रूप में की गई। घटना के बाद से विपक्ष उद्धव सरकार पर लगातार हमलवार है। वहीं मामले की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैैं। 

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

मुख्यमंत्री की मौजूदगी में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ीं

लॉकडाउन में सब्जियां अवैध ढंग से बेच रहे भाजपा नेता को पकड़ा