in

INN News Special – Crime & Prevention

देश में होने वाले जघन्य अपराधों के लिए हम सभी विरोध के अलग अलग स्वरुप में रच बस जाते हैं, और कुछ दिन बीतने के बाद होली के रंगों की तरह इस विरोध का स्वरुप भी फीका पड़ते हुए सड़कों से नीचे उतर जाता है.

कॉर्पोरेट सेक्टर में एक शब्द बहुत उपयोग किया जाता है – ROI रिटर्न ऑफ़ इन्वेस्टमेंट, अगर इस शब्द को हम समाज और समाज के विरोध से जोड़ें तो हमें अपने हर विरोध का परिणाम भी विरोध की स्वरुप की तरह गौर से देखना चाहिए.

This post was created with our nice and easy submission form. Create your post!

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

संसद में गुस्सा दिखा रहे दलों ने चुनाव में 88 ऐसे प्रत्याशी उतारे, जिन पर महिलाओं के खिलाफ अपराध के केस; इनमें से 19 लोकसभा में

राकांपा-कांग्रेस से हाथ मिलाने से नाराज 400 शिवसैनिकों ने भाजपा का दामन थामा