in

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पूछा- बकाया किसानों का कर्ज कब तक करेंगे माफ

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इधर-उधर की बात न करें। कर्ज माफी पर झूठ बोलने से पहले यह बताएं कि किसानों की कर्जमाफी के तीसरे चरण की जो प्रक्रिया शुरू होने वाली थी, वह कब शुरू करेंगे। वहीं, दूसरे चरण की ऋणमाफी की राशि वे कब तक खातों में डालेंगे। 
नाथ ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने जो अपना वचन-पत्र बनाया था, वह पांच वर्ष के लिए था। हम अपने एक-एक वचन को पूरा करने के लिए संकल्पित थे। शपथ ग्रहण के 2 घंटे में ही मैंने वचन-पत्र के अनुसार किसानों की कर्जमाफी की फाइल पर हस्ताक्षर कर ऋणमाफी का फैसला किया।

सरकार से पूछे 4 सवाल

1- द्वितीय चरण के 7 लाख किसानों की ऋणमाफी की जो प्रक्रिया हमारी सरकार में प्रारंभ हुई थी, उसे वे कब तक पूरा करेंगे। 
2- तीसरा चरण जो एक जून 2020 से प्रारंभ होना था, जिसमें 6 लाख किसानों का ऋणमाफ होना था, वह कब से प्रारंभ होगा। 
3- 2008 में 50 हजार तक का ऋण माफ करने का वादा भाजपा ने घोषणा-पत्र में किया था, क्या भाजपा ने एक भी किसान का ऋण माफ किया। 
4 – मुख्यमंत्री के तौर पर अपने कार्यकाल के दौरान शिवराजजी ने 21 हजार घोषणाएं की थीं, क्या उन्होंने देखा कि उनमें से कितनी घोषणाएं आज तक पूरी हुई। वास्तविकता तो यह है कि वे घोषणाएं मंच से मंत्रालय तक भी नहीं पहुंची।

चाैहान ने पूछा- जिनका दो लाख से अधिक कर्ज, उन्हें क्यों किया योजना से बाहर

उपचुनाव की बढ़ती सरगर्मी के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से गुरुवार को चौथा सवाल किया। इससे पहले बुधवार को भी चौहान ने  कमलनाथ से तीन सवाल पूछे  थे। चौहान ने पूछा कि जब 2018 के चुनाव से पहले कांग्रेस ने कहा था कि सभी किसानों और सभी बैंकों का कर्ज माफ होगा तो क्यों नहीं किया गया? राहुल गांधी और कमलनाथ से पूछना चाहता हूं कि ऐसा क्यों हुआ।
मुख्यमंत्री चौहान गुरुवार को दिमनी विधानसभा की वर्चुअल रैली में बोल रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि वचन-पत्र में तो कर्जमाफी को लेकर कोई शर्त नहीं थी। कमलनाथ सरकार के इस झूठ ने किसानों को डिफाल्टर बना दिया। अब उन्हें कर्ज पर 14%  ब्याज देना पड़ रहा है। किसानों के सिर ब्याज की यह गठरी रखने का पाप कमलनाथ और दिग्विजय सिंह ने किया है। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि यह चुनाव भाजपा सरकार को चिरस्थाई बनाने का चुनाव है। साथ ही शिवराज सिंह मुख्यमंत्री बने रहें, इसलिए भी महत्वपूर्ण है।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply
  1. Good day very cool web site!! Man .. Beautiful .. Wonderful .. I’ll bookmark your blog and take the feeds additionally?KI’m satisfied to find a lot of helpful information right here within the put up, we’d like work out extra techniques on this regard, thanks for sharing. . . . . .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

पीएम मोदी ने एशिया के सबसे बड़े सोलर प्लांट का लोकार्पण किया

खरगोन के नाबालिग को बहलाकर इंदौर ले आया झूलेवाला, पत्नी ने नाम बदलकर दी भीख मांगने की ट्रेनिंग, भीख कम मिलने पर पीटते थे