in ,

झूठे वादे कर सेक्स संबंध बनाना भी रेप की श्रेणी में : बॉम्बे हाईकोर्ट

बॉम्बे हाईकोर्ट ने एक महत्वपूर्ण फैसला सुनाया है, जिसके अनुसार यदि कोई पुरुष यह कहकर महिला के साथ यौन संबंध बनाता है कि वह सिर्फ उस महिला के अलावा किसी और से प्यार नहीं करता है, तो उसे सहमति नहीं माना जाएगा.

उच्च न्यायालय ने आगे कहा कि इस तरह के आश्वासन पर संबंध बनाना रेप की श्रेणी में आएगा।

यह आदेश जस्टिस सुनील शुकरे और माधव जामदार एक बलात्कार के मामले में एक व्यक्ति की याचिका खारिज करते हुए सुनाया। आरोपी के मुताबिक, उसने महिला की सहमति पर ही उससे संबंध बनाए थे। उस व्यक्ति ने कहा कि महिला के साथ उसका प्रेम संबंध था और फिजिकल रिलेशन बनाने के लिए महिला ने भी सहमति जताई थी।

वहीं महिला ने इसके जवाब में कहा कि उसने गलत धारणा के तहत यह सहमति जताई थी, क्योंकि पुरुष का आश्वासन झूठा था।

महिला ने कहा कि पुरुष ने यह कहकर उसे बहलाया कि वह सिर्फ उसी से प्यार करता है और किसी से भी नहीं। कुछ समय बाद ही दोनों ने ब्रेकअप कर लिया।

मामले के तथ्यों पर विचार करते हुए पीठ ने कहा, यदि महिला पुरुष के खिलाफ लगाए गए आरोपों को देखा जाए तो पुरुष ने उसे यह कहकर संबंध बनाए थे कि उसका प्यार महिला के लिए सच्चा है।

हालांकि पुरुष ने महिला को शादी को लेकर कोई वादा नहीं किया था लेकिन यह भी सच है कि महिला ने शादी से पहले इस तरह के फिजिकल रिलेशन में आने से इंकार किया था।
इसके बाद पुरुष ने यह कहकर उसे लगातार मनाने की कोशिश की कि वह सिर्फ उस महिला को चाहता है। यह प्रतीत होता है कि इन शब्दों के बाद महिला उस व्यक्ति की बात मान गई।

पीठ ने आगे कहा कि महिला यौन संबंधों में शामिल नहीं हुई क्योंकि उसके पास आरोपी के लिए कोई गहरा प्यार और जुनून था, बल्कि यह एक ऐसा मामला है, जिसमें इस तरह के संबंध में प्रवेश करने का प्रलोभन दिया गया था।” इस कारण न्यायाधीशों ने पुरुष की याचिका को खारिज कर दिया।”

Report

What do you think?

Written by News inn

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

पार्षद ताहिर हुसैन 20 साल पहले अमरोहा से मजदूरी करने आया था, अब 18 करोड़ का मालिक

इंदौर में बोले CM कमलनाथ- हम चाहते हैं कि मध्य प्रदेश में निवेश की एक क्रांति आए