in

सुशांत की मौत की मिस्ट्री सुलझाने मुंबई जाएंगे बिहार पुलिस के ये सुपर कॉप्स, मनु महाराज की भी चर्चा.

बॉलीवुड अभिनेता और बिहार के लाल सुशांत सिंह राजपूत की मौत की मिस्ट्री में बिहार की एसआईटी की जांच में रोजाना नये खुलासे हो रहे हैं। बीच पुलिस मुख्यालय सूत्रों की मानें तो सुशांत की मौत की उलझी गुत्थी को सुलझाने के लिए बिहार पुलिस के सुपर कॉर्प माने जाने वाले डीआइजी रैंक के अधिकारी को मुंबई भेजने पर विचार किया जा रहा है। 

अभी तीन नामों पर चर्चा चल रही है, जिसमें मुंगेर डीआइजी मनु महाराज, एटीएस डीआइजी विकास वैभव और एसटीएफ डीआइजी विनय कुमार शामिल हैं। हालांकि, इस बार अधिकारी सड़क मार्ग से बकायदा सुरक्षा मानकों के पालन करने के साथ कूच करेंगे। उल्लेखनीय है कि ये तीनों बिहार के सुपर कॉर्प प्रदेश की बड़ी-बड़ी अनसुलझे क्राइम को सुलझा कर कई बड़े अपराधियों को सलाखों के पीछे भेज चुके हैं। 

बिहार पुलिस में भारी नाराजगी 
उधर अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या केस की जांच के लिए मुबंई पहुंचे पटना सिटी एसपी आईपीएस विनय तिवारी को क्वारंटाइन किए जाने से बिहार पुलिस में भारी नाराजगी है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि वह जांच के लिए सिलसिले में आधिकारिक तौर पर मुंबई पुलिस को सूचना देने के बाद वहां पहुंचे थे कोई चोरी-छुपे नहीं गए। क्वारंटाइन के लिए महाराष्ट्र सरकार ने जो नियम बना रखा है यह कार्रवाई उसके विरुद्ध प्रतीत होती है। 

साथ आये बिहार पुलिस के बड़े अधिकारी 
इस मामले को लेकर बिहार पुलिस के डीजीपी ने पटना पुलिस का साथ दिया। उन्होंने कहा कि जानबूझकर उनकी एसआईटी की तलाश की जा रही है, ताकि जांच को प्रभावित किया जा सके। उनकी टीम एक जगह अंडरग्राउंड हो गई। इतनी परेशानी होने के बाद भी पटना पुलिस पूरी दृढ़ता के साथ मुंबई में अपना काम कर रही है। बिहार पुलिस के तमाम बड़े अफसर मुंबई पुलिस और बीएमसी के इस रवैये से नाराज दिखे। 

एसआईटी ने खुद को अंडरग्राउंड कर लिया 
आईपीएस विनय तिवारी को जबरन क्वारंटाइन करने के बाद अब एसआईटी मुंबई पुलिस और बीएमसी की रडार पर है। बीएमसी के आलाधिकारी पटना पुलिस की टीम को सोमवार को दिनभर तलाशते रहे। पुलिस टीम को दोपहर में इसकी भनक लग गई। एसआईटी को लगा कि अगर ऐसा हुआ तो जांच पर फर्क पड़ सकता है। लिहाजा पटना पुलिस की एसआईटी के मुंबई के अफसरों पर भारी पड़ गए और उन्हें अपनी भनक तक नहीं लगने दी।

एसआईटी की तलाश में जगह-जगह तलाश
सूत्रों की मानें तो पुलिस टीम ने कुछ देर तक जांच करने के बाद खुद को अंडरग्राउंड कर लिया। पटना पुलिस की टीम की तलाश करने कई होटलों में बीएमसी की टीम पहुंची। वहां मुंबई पुलिस का सहयोग भी उसे मिल रहा था, लेकिन तब भी पटना पुलिस के अफसरों ने होशियारी दिखायी और सामने नहीं आए। एसआईटी की जांच को प्रभावित करने के लिए ऐसा किया गया। गौरतलब है कि रविवार को मुंबई पहुंचे पटना के एसपी सिटी विनय तिवारी को भी मुंबई पुलिस के इशारे पर बीएमसी ने जबरन क्वारंटाइन कर दिया था। 

]

Report

What do you think?

Written by Bhanu Pratap

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

भारत से बिगड़े रिश्ते का चालाकी से फायदा उठा रहा चीन, बोला- हम नेपाल को अपने बराबर मानते हैं.

जो कहा, वो कर दिखाया: राम मंदिर की नींव रखने 29 साल बाद वापस अयोध्या पहुंचे PM मोदी.