in ,

अरुणाचल प्रदेश में मिला नई प्रजाति का सांप, वैज्ञानिकों ने हैरी पॉटर के इस विलेन पर रखा नाम

हिमालय की खूबसूरत वादियों में हजारों दुर्लभ जीव पाए जाते हैं, जिनकी खोज में वैज्ञानिक जुटे हुए हैं। अब वैज्ञानिकों को सांप की नई प्रजाति का पता चला है, जो ग्रीन वाईपर श्रेणी में आता है। वैज्ञानिकों ने इस सांप का नाम हैरी पॉटर मूवी के विलेन सालाजार स्लीथेरिन के नाम पर ‘त्रिमरेसुरस सालाजार’ (Trimeresurus Salazar) रखा है। हरे रंग का ये सांप काफी जहरीला होता है, इसके जहर की एक बूंद इंसान को मौत की नींद सुला सकती है।

जानकारी के मुताबिक नेशनल सेंटर फॉर बायोलॉजिकल साइंस बेंगलुरु के वैज्ञानिक अरुणाचल प्रदेश में हिमालय की श्रेणियों में सांपों पर रिसर्च कर रहे थे।

इस दौरान उन्हें एक ग्रीन वाईपर दिखा। ये वाईपर श्रेणी के अन्य सांपों की तरह दिखाता था। जिसके बाद वैज्ञानिकों ने इसका डीएनए टेस्ट किया, तब जाकर पता चला कि ये नई प्रजाति का सांप है। वैज्ञानिकों के मुताबिक अरुणाचल प्रदेश में 50 से ज्यादा वाईपर प्रजाति के सांप पाए जाते हैं। इन सभी प्रजातियों के सांप दिखने में एक जैसे होते हैं, जिस वजह से तब तक इसकी खोज नहीं हो पाई थी।

इस नए प्रजाति के सांप का नाम हैरी पॉटर मूवी के विलन सालाजार स्लीथेरिन के नाम पर रखा गया है। सालाजार हैरी पॉटर मूवी में हॉगवर्ट्स स्कूल का संस्थापक रहता है, जो सांपों से बात करता है। वैज्ञानिकों का कहना है कि सालाजार एक फेमस करेक्टर है, इस वजह से लोग इस सांप का नाम आसानी से याद कर सकेंगे। वहीं वैज्ञानिकों ने अरुणाचल के जंगलों में बढ़ रही इंसानों की दखल पर चिंता जताई है। वैज्ञानिकों के मुताबिक लगातार जंगलों को काटकर वहां इमारतें बनाई जा रही हैं, जिससे कई जंगली प्रजातियों पर खतरा मंडरा रहा है।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

संक्रमितों की संख्या 2000 के पार; इंदौर में 91, भोपाल में 45 मरीज मिले; पीथमपुर की 206 फैक्ट्रियों में आज से काम शुरू होगा

आज दोपहर पृथ्वी के करीब से गुजरेगा एवरेस्ट जितना बड़ा उल्कापिंड – पहले इसके धरती से टकराने की आशंका थी