in ,

उज्जैन में कोरोना वायरस के संदेही मरीज मिला, मां के साथ जिला अस्पताल में भर्ती, वायरस की पुष्टि के लिए सैंपल पुणे भेजे

  • मरीज चाइना के वुहान में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा है, वह 13 जनवरी को भारत लौटा  था.
  • विदेश मंत्रालय की सूचना पर ऐसे मरीजों की तलाश की जा रही, संदेही को  सर्दी-खांसी बनी हुई है.

चाइना में फेल रहे कोरोना वायरस के संदेही मरीज उज्जैन में भी मिले हैं। उन्हें माधव नगर अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया है। मरीज चाइना के वुहान में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा है। वह 13 जनवरी को भारत लौटा। चाइना से आने वाले लोगों की जांच के लिए एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग की व्यवस्था है, लेकिन उसके पहले ही छात्र भारत लौट आया था। इस वजह से उसकी वहां पर जांच नहीं हो सकी।

उज्जैन में मिले संदेही मरीज काे सर्दी-खांसी बनी हुई है, विदेश मंत्रालय की सूचना पर ऐसे मरीजों की तलाश सभी जगह की जा रही है, इसी के तहत उज्जैन में कोरोना वायरस के मरीज मिले। उनके सैंपल लेकर जांच के लिए पुणे भेज दिए हैं। सीएमएचओ डॉ. महावीर खंडेलवाल ने बताया मरीज और उसकी मां काे संदेही वायरस कोरोना हो सकता है। दोनों का इलाज शुरू कर दिया है। वायरस की पुष्टि के लिए सैंपल लेकर पुणे भेज दिए हैं। जांच रिपोर्ट आने पर ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी दोनों की हालत खतरे से बाहर है। 

14 लोग अस्पतालों में भर्ती, 450 से ज्यादा को डॉक्टरों की नियमित निगरानी में रखा
संक्रमण की आशंका में जयपुर, मुंबई, पटना, बेंगलुरू, उज्जैन सहित विभिन्न शहरों में 14 लोग अस्पतालों में भर्ती हैं। कोलकाता में चीन की एक महिला को बीमार होने पर आइसोलेशन वार्ड में रखा गया। देशभर में 450 लाेग निगरानी में हैं। भारत में अभी तक काेराेनावायरस का काेई केस कन्फर्म नहीं हुआ है। केंद्र के अधिकारियों ने सोमवार को बैठक कर कोरोनावायरस से निपटने की तैयारियों का जायजा लिया। प. बंगाल, उत्तराखंड, यूपी, बिहार और सिक्किम को निर्देश दिए गए हैं कि नेपाल से आने वालों की स्क्रीनिंग की जाए। प. बंगाल के पानीटंकी, उत्तराखंड के जुअालघाट व जाैलजिबी में स्क्रीनिंग शुरू। 

जैविक हथियारों की रिसर्च से तो नहीं जुड़ा यह वायरस?
इजराइल के पूर्व मिलिट्री इंटेलिजेंस अधिकारी डैनी शोहम ने आशंका जताई है कि वुहान की लैबोरेट्री में जैविक हथियारों पर चोरी-छिपे चल रही रिसर्च में ही कोरोना वायरस पैदा हुआ होगा। वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी चीन का सबसे उन्नत वायरस रिसर्च संस्थान है। 

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जाेखिम के आंकलन में गलती मानी
डब्ल्यूएचओ ने माना कि काेराेना वायरस के वैश्विक जाेखिम के आंकलन में गलती हुई। संस्था ने जाेखिम स्तर ‘मध्यम’ से बढ़ाकर ‘उच्च’ कर दिया है। चीन में यह जाेखिम ‘बेहद उच्च’ है। 

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0
Band Naak Kaise Khole

बंद नाक से तुरंत राहत देंगे ये 5 उपाय, एक बार आजमाकर देखें

do not stop these pressure of Body

शरीर के इन वेग को रोकना हो सकता है खतरनाक, कभी ना रोके