in

सिंधिया की डिनर डिप्लोमेसी के बाद चाय पर चर्चा; कांग्रेस दफ्तर में सिंधिया से मिलने के लिए कार्यकर्ताओं ने की धक्कामुक्की

  • सोनिया गांधी से मिलने के बाद मप्र के दौरे पर हैं सिंधिया, पीसीसी दफ्तर में कार्यकर्ताओं से मिलने पहुंचे .
  • गुरुवार को अपने खास मंत्री के घर नेताओं के साथ किया डिनर; कहा- मैंने पूरे राजनीतिक जीवन में कोई पद नहीं मांगा.

राज्यसभा भेजे जाने और प्रदेश अध्यक्ष बनाने की अटकलों के बीच पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया गुरुवार को भोपाल पहुंचे। रात में उन्होंने राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के निवास पर डिनर में शामिल हुए। शुक्रवार को सुबह सिंधिया मंत्री सुखदेव पांसे के घर पहुंचे और उनके साथ चाय पर चर्चा की। यहां से वह सीधे प्रदेश कांग्रेस दफ्तर पहुंचे, जहां उनसे मिलने के लिए उनके समर्थकों का हुजूम टूट पड़ा। बताया जा रहा है कि बढ़ती भीड़ ने सिंधिया से मिलने के लिए हंगामा कर दिया और पीसीसी दफ्तर में दूसरी मंजिल की मीटिंग हॉल का एक गेट भी टूट गया।

इससे पहले सिंधिया ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि उन्होंने अपने पूरे राजनीतिक कैरियर में किसी भी पद को लेने की चाहत नहीं की है। उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष बनाने या राज्यसभा भेजने की अटकलों से भी इनकार कर दिया। उन्होंने कहा- राजनीति उनके लिए समाज सेवा है। जिसे वह अच्छे से कर रहे हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ से न मिलने की बात पर उन्होंने कहा- हर बार जरूरी नहीं है कि मुख्यमंत्री से मिला जाए। छपाक फिल्म को टैक्स फ्री करने और तान्हाजी को टैक्स फ्री करने की मांग पर उन्होंने कहा कि ऐतिहासिक संदेश देने वाली फिल्में अच्छी होती हैं, लेकिन टैक्स फ्री करने का फैसला सरकार को लेना है। 

डिनर डिप्लोमेसी में नहीं दिखे सीएम कमलनाथ 
सिंधिया के डिनर में मुख्यमंत्री कमलनाथ नहीं पहुंचे। वहीं आरिफ अकील, सज्जन सिंह वर्मा, जीतू पटवारी, तरुण भनोत, पीसी शर्मा भी नजर नहीं आए। डिनर में पहुंचे मंत्रियों ने कहा कि इसको शक्ति प्रदर्शन से जोड़ कर देखना ठीक नहीं। पहले भी इस तरह के आयोजन होते रहे हैं। गोविंद सिंह ने कहा कि हर चीज में राजनीति नहीं देखना चाहिए। महेंद्र सिसोदिया ने कहा कि उनके कद के आगे सभी पद छोटे हैं। फैसला आलाकमान को करना है। 

लंच पर विधायकों से कमलनाथ की चर्चा : इससे पहले गुरुवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस विधायकों को नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव के लिए तैयारी करने के लिए कहा है। सीएम हाउस में विधायकों से चर्चा में उन्होंने यह बात कही। वहां औपचारिक रूप से बैठक तो नहीं हुई, लेकिन सीएम ने लंच के दौरान ही विधायकों से बातचीत की। उन्हें सार्वजनिक बयानबाजी से बच कर रहने को कहा।

19 तक प्रदेश के दौरे पर सिंधिया, कई कार्यक्रम में होंगे शामिल
मध्य प्रदेश दौरे के दौरान कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया युवाओं से भी संवाद करेंगे। वह 19 जनवरी तक मप्र के दौरे पर रहेंगे। सिंधिया ने विधानसभा चुनाव से पहले युवाओं से युवा संवाद किया था। अब कांग्रेस सरकार के एक साल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया साल 2020 में कार्यकर्ताओं से चर्चा करेंगे।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

95 साल की मां, पत्नी और तीन बेटियों की हत्या के बाद छत से कूदकर की जान देने की कोशिश

सुबूतों के अभाव में राष्ट्रीय महिला आयोग ने बंद किया अनु मलिक पर चल रहा यौन शोषण का केस