in

हेट क्राइम में जान गंवाने वाले सिख पुलिस अफसर संदीप धालीवाल के नाम पर होगा पोस्ट ऑफिस

  • अमेरिकी सांसद लिजी फ्लेचर ने संसद के निचले सदन हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स में प्रस्ताव रखा.
  • भारतीय मूल के सिख पुलिसकर्मी संदीप धालीवाल की दो महीने पहले हत्या हुई थी.
  • धालीवाल अमेरिका के पहले सिख डिप्टी शेरिफ थे, उनकी हत्या के बाद पूरे टेक्सास में शोक का माहौल था.

वॉशिंगटन. अमेरिका के टेक्सास में दो महीने पहले हेट क्राइम में जान गंवाने वाले सिख पुलिसकर्मी संदीप धालीवाल को सम्मान देने के लिए शुक्रवार को संसद में बिल पेश किया गया। इसके तहत ह्यूस्टन के एक पोस्ट ऑफिस का नाम बदलकर संदीप सिंह धालीवाल पोस्ट ऑफिस करने का प्रस्ताव रखा गया। अमेरिकी सांसद लिजी फ्लेचर ने शुक्रवार को हाउस ऑफ रिप्रेंजेटेटिव्स में यह बिल पेश किया। उन्होंने कहा कि डिप्टी धालीवाल ने टेक्सास में समानता, रिश्तों और समुदाय के लिए काम किया और अपने जीवन को दूसरे की सेवाओं के लिए लगा दिया। इसलिए ह्यूस्टन में ‘डिप्टी संदीप सिंह धालीवाल पोस्ट ऑफिस’ हमेशा उनकी सेवाओं और बलिदान की याद दिलाता रहेगा।  

सांसद फ्लेचर ने आगे कहा, “मैं प्रस्ताव रखती हूं कि ह्यूस्टन में 315 एडिक्स हॉवेल रोड पर स्थित पोस्ट ऑफिस का नाम ‘डिप्टी धालीवाल सिंह पोस्ट ऑफिस’ रखा जाए। मैं डिप्टी धालीवाल को इस रूप में याद रख कर गर्व महसूस करती हूं। मैं चाहती हूं कि हमारे टेक्सास के साथी जल्द इस प्रस्ताव पर मुहर लगाएं।”

‘हेट क्राइम का शिकार हुए थे डिप्टी धालीवाल’

डिप्टी धालीवाल की 27 सितंबर को टेक्सास में ट्रैफिक ड्यूटी के दौरान गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। धालीवाल ने जांच के लिए कार को रोका था, जिसमें एक महिला और पुरुष सवार थे। हमलावर ने कार से निकलते ही सिंह पर गोली चला दी। इस घटना के बाद टेक्सास में लोगों ने शोक जताया था। फुटबॉल मैच से लेकर प्रदर्शनियों में उन्हें श्रद्धांजलि दी गई थी। 


पिता ने कहा- ह्यूस्टन के प्यार की वजह से ही मुश्किल समय काटना आसान हुआ

सासंद फ्लेचर के इस प्रस्ताव की धालीवाल के माता-पिता ने तारीफ की है। उनके पिता प्यारा सिंह धालीवाल ने कहा था कि ह्यूस्टन में हमें जो प्यार मिला, उसकी वजह से ही संदीप की मौत के बाद हमें मुश्किल समय गुजारने में आसानी हुई। उन्होंने फ्लेचर को धन्यवाद देते हुए कहा कि हम सबसे अपील करते हैं कि वे संदीप के सेवा और अच्छे काम के उदाहरण को अपने जीवन में भी शामिल करें।

सिखों के लिए काम करने वाले संगठन सिख कोलिशन के प्रबंधक सिम जे सिंह ने कहा, “सिख समुदाय संदीप धालीवाल के प्रभाव और उनके काम को पहचानने के लिए सांसद फ्लेचर और ह्यूस्टन डेलिगेशन का शुक्रगुजार है। हम आगे उनकी विरासत का सम्मान बनाए रखने की कोशिश करेंगे। 

हैरिस काउंटी कमिश्नर ने कहा- प्रस्ताव के लिए फ्लेचर का शुक्रिया

टेक्सास के हैरिस काउंटी के कमिश्नर एड्रियन गार्सिया ने कहा, “यह हमारे दोस्त संदीप सिंह धालीवाल का सबसे बेहतरीन सम्मान है। उनकी मौत ने एक शून्य छोड़ा है। लेकिन उनकी विरासत उनके परिवार, दोस्तों और समुदाय की तरफ से जारी रहेगी। डिप्टी धालीवाल ने अपने कार्यालय और समुदाय के लिए ईमानदारी से काम किया। संसद में प्रस्ताव लाने के लिए सांसद फ्लेचर का शुक्रिया।” 

धालीवाल को याद रखते हुए बदला गया पुलिस भर्ती का नियम
2015 में धालीवाल टेक्सास के पहले पुलिसकर्मी बने थे, जिन्हें धर्म से जुड़े प्रतीक और पगड़ी-दाढ़ी रखते हुए पुलिस सेवा से जुड़े रहने का मौका दिया गया था। इसके लिए उन्हें नीतियों में छूट दी गई थी। हालांकि, उनकी मौत के बाद पिछले महीने ही ह्यूस्टन पुलिस डिपार्टमेंट ने अपने नियमों को पूरी तरह बदल दिया। अब कोई भी अफसर धार्मिक प्रतीकों रखकर ड्यूटी कर सकता है।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

तहसीलदार ने मेनका गांधी को धिक्कारा, कहा- डॉक्टर आपकी नजर में जानवर से भी बदतर

कोबरा – छेड़खानी के आरोपी ने जेल से बाहर आते ही महिला को सड़क पर दौड़ाकर किया हंसिये से वार