in

लॉकडाउन खोलने के विकल्पों पर केंद्र सरकार / मंत्रिसमूह ने कहा- स्कूल-काॅलेज, शॉपिंग माॅल, धर्म स्थल 15 मई तक बंद ही रहें

काेविड-19 पर गठित मंत्रिसमूह ने स्कूल-काॅलेज, शाॅपिंग माॅल और धार्मिक स्थल 15 मई तक बंद रखने की सिफारिश की है। सूत्राें के अनुसार, मंत्रिसमूह की राय है कि लाॅकडाउन 14 अप्रैल से आगे नहीं बढ़ने की सूरत में भी ये गतिविधियां बंद ही रहनी चाहिए। साथ ही, धार्मिक केंद्राें और माॅल जैसे सार्वजनिक स्थानाें पर ड्राेन से भीड़ की निगरानी की जानी चाहिए। मंत्रिसमूह की बैठक मंगलवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुई। इसमें गृह मंत्री अमित शाह भी माैजूद थे। मंत्री इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि धार्मिक केंद्र, शाॅपिंग माॅल और शैक्षणिक संस्थानाें काे 14 अप्रैल के बाद 4 सप्ताह तक सामान्य तरीके से कामकाज शुरू नहीं करने देना चाहिए। मई से गर्मी की छुट्टियां शुरू हाेने के चलते ज्यादातर स्कूल-काॅलेज जून अंत तक बंद ही रहेंगे। इस मंत्रिसमूह काे देश में काेराेनावायरस महामारी के कारण पैदा हालात की निगरानी के बाद प्रधानमंत्री काे सिफारिशें भेजने का जिम्मा साैंपा गया है।

दूसरी ओर, मध्यप्रदेश समेत 8 राज्य की सरकाराें ने केंद्र से 14 अप्रैल के बाद भी लाॅकडाउन जारी रखने काे कहा है। हालांकि, लाॅकडाउन खत्म करने पर अंतिम फैसला पीएम नरेंद्र माेदी के साथ मुख्यमंत्रियाें और विभिन्न दलाें के नेताओं की वीडियाे काॅन्फ्रेंस के बाद हाेगा। सूत्राें के अनुसार, केंद्र सरकार लॉकडाउन बढ़ाने पर विचार कर रही है। पीएम दो बार कह चुके हैं कि ये लड़ाई लंबी चलेगी। तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव साफ कर चुके हैं कि वे राज्य में लॉकडाउन खत्म नहीं करेंगे।

लाॅकडाउन के 14 दिन कुल टेस्ट    संक्रमित
25 मार्च तक    22,038    539
31 मार्च तक    42,788    1397
7 अप्रैल तक    1.2 लाख    4998

रैपिड टेस्ट के बाद साफ होगी स्थिति

स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि आने वाले दिनों में रोजाना एक लाख टेस्ट कराने की तैयारी है। बुधवार से देशभर के हॉटस्पॉट पर रैपिड एंटी बॉडी टेस्ट शुरू होंगे। इसके लिए 7 लाख टेस्टिंग किट पहुंच चुकी हैं। सरकार का मानना है कि रैपिड टेस्ट के बाद ही साफ हो पाएगा कि संक्रमण सामुदायिक स्तर पर फैल चुका है या नहीं।

देश में अब रोजाना 10 हजार टेस्ट होने लगे हैं। 10 दिन पहले तक यह औसत सिर्फ एक हजार प्रतिदिन था।

दिल्ली: हाॅटस्पाॅट बने इलाकों में 2 दिन में 1 लाख रैपिड टेस्ट होंगे

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार काे 5 बिंदुओं का एक्शन प्लान 5टी यानी टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, टीम वर्क और ट्रैकिंग-माॅनिटरिंग घोषित किया। संक्रमण का हाॅटस्पाॅट बन चुके इलाकाें में दो दिन में एक लाख रैपिड टेस्ट किए जाएंगे। मरीजाें का आंकड़ा बढ़ने की आशंका के चलते निजी अस्पतालाें और हाेटलाें के 12 हजार कमरे अधिग्रहीत किए जाएंगे। कुल 30 हजार बेड की व्यवस्था की जा चुकी है।

महाराष्ट्र में संक्रमित 1000 पार हुए, अकेले मुंबई में ही 590 मरीज

राज्याें में घाेषित आंकड़ाें के अनुसार, मंगलवार काे देश में 509 नए मरीज मिले और 5 नई माैतें हुईं। इसके आधार पर देशभर में अब तक 5,192 मरीज मिल चुके हैं, जिनमें से 162 की माैत हाे चुकी है। हालांकि, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ाें में अभी मरीजाें की संख्या 4,789 और कुल माैतें 124 दिखाई गई हैं। महाराष्ट्र में 150 नए मरीज मिले। राज्य में आंकड़ा 1,018 हाे गया है। मुंबई में 590 संक्रमित हैं।
काेराेनावायरस का एक मरीज 30 दिन में 406 लाेगाें काे संक्रमित कर सकता है
स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि काेराेना का मरीज अगर साेशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करे ताे 30 दिन में 406 लाेगाें काे संक्रमित कर सकता है। लाॅकडाउन के दाैरान मरीज सिर्फ 2.5 लाेगाें काे संक्रमित कर सकता है।

Report

What do you think?

Written by Bhanu Pratap

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

SBI के 44 करोड़ ग्राहकों को लगा झटका, बैंक ने बचत खाते की ब्याज दरें घटाई

ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन ICU से आए बाहर, डोनाल्ड ट्रंप बोले- Get well Boris