in

चीन में कोरोना वायरस का बढ़ा खौफ, इंसानों के बाद अब जानवरों की भी जान आफत में

चीन में फैले कोरोना वायरस का खौफ अब पूरी दुनिया में देखा जा रहा है। लोगों के अलावा अब कोरोना वायरस जानवरों के लिए भी मुसीबत बन गया है। खासकर चीन के कुछ इलाकों में पालतू जानवरों की जान पर आफत बन गई है। जब से ये यहां के लोगों को ये पता चला है कि वायरस पालतू जानवरों से भी फैल सकता है उसके बाद से लोग अपने यहां के पालतू जानवरों को या तो घर के बाहर छोड़ दे रहे हैं या फिर उन्हें कहीं दूर छोड़ आ रहे हैं।

मल्टी स्टोरी बिल्डिंग्स में रहने वाले तो इन पालतू जानवरों से स्थायी रूप से छुटकारा पा रहे हैं। वो अपनी बिल्डिंग की बालकनी से इन पालतू जानवरों को नीचे फेंक दे रहे हैं जिससे उनकी मौत हो जा रही है। बीते कुछ दिनों में चीन में ऐसे एक दर्जन से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। स्थानीय पुलिस के पास सड़क पर मृत पाए जा रहे ऐसे पालतू जानवरों की कई शिकायतें भी पहुंच रही हैं। कई वेबसाइटों ने इस तरह की खबरें प्रकाशित भी की है।

कहां-कहां पाए गए सड़क पर मरे हुए जानवर 

चीन के हेबै प्रांत के तियानजिन शहर में एक पालतू कुत्ते के ऊंचे टावरों से फेंक दिया गया जिसके कारण उसकी मौत हो गई। सड़क पर पालतू कुत्ते को मृत पाया गया, उसके पास खून भी बिखरा हुआ मिला। इसी तरह से शंघाई में 5 बिल्लियों को भी ऊंचे टावरों से फेंककर मार दिया गया। स्थानीय लोगों का कहना है कि अब तक जो लोग इन जानवरों को अपने घरों में अपने बिस्तरों पर रखकर उन्हें पाल रहे थे, अब उन्हें ऊंटे टावर की बालकनी से फेंककर मौत के घाट उतार दे रहे हैं। इन जानवरों की स्थिति को देखने से ही साफ हो

जाता है कि ये पालतू ही थे क्योंकि इनकी स्थिति सड़क पर घूमने वाले आवारा जानवरों से एकदम अलग दिखाई पड़ जाती है। शनिवार को भी इसी तरह से एक पालतू कुत्ते को ऊंची बिल्डिंग के टावर से नीचे फेंका गया जो नीचे खड़ी एक कार से सनरूफ पर आकर गिरा, इस वजह से कार का सनरूफ टूट गया, इस आवाज को स्थानीय लोगों ने सुना, जब उन्होंने बाहर निकलकर देखा तो उनको कार पर एक पालतू कुत्ता गिरा हुआ दिखाई दिया। 

चीनी राज्य टीवी फैला रहे जागरूकता 

इस तरह की घटनाएं सामने आने के बाद अब चीनी राज्य टीवी स्थानीय स्तर पर जागरूकता फैला रहे हैं जिससे लोग अपने यहां पालतू जानवरों को ना मारें। चीनी राज्य टीवी पर डॉ.लंजुआन ने कहा कि इस तरह की घटनाएं चौंकाने वाली हैं। उनका कहना है कि यदि पालतू जानवर संदिग्ध रोगियों के संपर्क में आते हैं, तो उन्हें अलग किया जाना चाहिए। ना कि उनको इस तरह से मारने का प्रयास करना चाहिए।

उन्होंने बताया कि कुछ स्थानीय लोगों ने इस तरह की अफवाह फैलाने का भी काम किया है जिसके कारण चीनी नागरिकों में और भी डर बैठ गया है। इस वजह से वो अपनी जान बचाने के लिए इस तरह से जानवरों की हत्या करने लग गए हैं। झूठे दावों को लगाने और समाप्त करने के लिए, चाइना ग्लोबल टेलीविजन नेटवर्क ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक उद्धरण को भी पोस्ट किया है।

पेटा एशिया ने उठाई आवाज 

चीन के लिए पेटा एशिया के अधिकारी कीथ गुओ ने कहा कि जिन लोगों ने इस तरह से जानवरों की हत्या की है, स्थानीय पुलिस जल्द ही उनका पता लगा लेगी। उनका कहना है कि अभी तक ऐसा माना जा रहा था कि चीन के वुहान मीट बाजार से ये वायरस फैला है मगर इसके पुख्ता सबूत नहीं मिले है। अब लोग पालतू जानवरों को भी इसका वाहक मानने लगे हैं जिसके कारण इस तरह से बालकनी से फेंककर इनकी हत्या की जा रही है। 

दूसरी ओर ये भी देखा जा रहा है कि कुछ पालतू पशुओं के मालिक अपने जानवरों के लिए भी मास्क खरीद रहे हैं। वो अपने साथ-साथ जानवरों को भी इस वायरस से बचाना चाह रहे हैं। क्योंकि इन लोगों को पहले बताया गया था कि पालतू जानवर भी इस वायरस की चपेट में आ सकते हैं उसी के बाद से इनके लिए मास्क खरीदे जा रहे हैं। बीजिंग में कुछ दुकानदार जानवरों के लिए बनाए गए विशेष तरह के मास्क भी बेच रहे हैं।  

Report

What do you think?

Written by Bhanu Pratap

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

Ind vs NZ: भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड को 5-0 से हराकर रचा इतिहास, 7 रन से जीता आखिरी मैच

नशे में रहना अच्छी बात है, लेकिन देशभक्ति का नशा इतना भी नहीं कि मोदी जी की तरह शादी ही न करें: कैलाश विजयवर्गीय