in ,

नौसेना ने बैन किया Facebook, सैनिकों के स्मार्टफोन इस्तेमाल करने पर भी लगाया प्रतिबंध

भारतीय नौसेना ने नौसेनिकों द्वारा सोशल मीडिया साइट फेसबुक के इस्तेमाल को प्रतिबंधित कर दिया है। इसके अलावा नौसेना के ठिकानों, डॉकयार्ड और युद्धपोतों पर स्मार्टफोन पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है।सोशल मीडिया पर दुश्मन की खुफिया एजेंसियों को संवेदनशील सूचनाएं लीक करते सात नौसैनिकों के पकड़े जाने के बाद ये कठोर कदम उठाया गया है।

भारतीय नौसेना ने सोशल मीडिया साइट फेसबुक के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने के आदेश जारी किए हैं। यह आदेश 27 दिसंबर को जारी किया गया था। नौसेना की ओर से प्रतिबंध लगाने का यह आदेश 20 दिसंबर को विशाखापट्टनम से 8 व्यक्तियों और सात नौसेना कर्मियों और मुंबई से हवाला ऑपरेटर की गिरफ्तारी के बाद आया है।

फ़ेसबुक के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने के अलावा, नौसैनिक क्षेत्रों के भीतर सभी ठिकानों और यहाँ तक कि जहाज़ों के आगे भी स्मार्टफोन के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।मैसेजिंग ऐप और सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर भी इस प्रतिबंध को लगाया गया है। फेसबुक पर प्रतिबंध को अन्य सभी फेसबुक के स्वामित्व वाली साइटों पर प्रतिबंध के रूप में देखा जा रहा है। बता दें, व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनियां हैं।

प्रतिबंध के इस कदम को हाल के मामलों के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है, जहां दुश्मन ने इन साइटों और सोशल मीडिया नेटवर्क का उपयोग करते हुए नौसैनिकों को निशाना बनाया था और कई जानकारी को मिटाने की कोशिश की थी।भारतीय नौसेना में कुल 67252 नौसैनिक हैं। प्रतिबंध से सबसे बड़ी चिंता, असैनिक कर्मचारियों और नौसैनिक डॉकयार्ड में काम करने वालों की होगी क्योंकि वे नौसेना के नियमों के तहत नहीं आते हैं।

भारतीय नौसेना को अग्रणी सेवा के रूप में देखा जाता है जिसने अपनी परिचालन उपलब्धियों और मानव सहायता और आपदा राहत और यहां तक ​​कि भर्ती विज्ञापन के बारे में जानकारी का प्रसार करने में सोशल मीडिया के उपयोग की कला में महारत हासिल कर ली है और यहां तक ​​कि अपने लोकप्रिय फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के माध्यम से भर्ती विज्ञापन। यह पहली सेवा थी जिसने स्वयं का YouTube चैनल शुरू किया।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

अलवर के किसान ने प्याज से मिली तीन लाख की रकम दान कर मिसाल पेश किया

छतीसगढ़ में ठंड के चलते मुख्यमंत्री ने दिए सभी कलेक्टर को निर्देश- जगह-जगह अलाव जलवाएं