in

दूतावास पर हमले का अमेरिका ने लिया बदला, कासिम सुलेमानी ढेर, ईरान ने बताया ‘आतंकी कार्रवाई’

अमेरिका ने बगदाद स्थित अपने दूतावास पर हुए हमले का बदला ले लिया है। अमेरिका ने एक एयर स्‍ट्राइक में ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी को मार गिराया है। जानें अब क्‍या होगा आगे…

इराक की राजधानी बगदाद में स्थिति अमेरिकी दूतावास पर हुए हमले के बाद अमेरिका ने बहुत सख्‍त कार्रवाई की है। अमेरिका ने शुक्रवार को बगदाद एयरपोर्ट पर एक एयर स्‍ट्राइक की जिसमें ईरान समर्थित कुर्द बल के प्रमुख मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत हो गई। रिपोर्टों में कहा गया है कि सुलेमानी का काफिला बगदाद एयरपोर्ट की ओर बढ़ रहा था तभी एक रॉकेट हमले की जद में आ गया। हमले में ईरान समर्थित मिलिशिया पॉपुलर मोबलाइजेशन फोर्स (Popular Mobilization Forces or PMF) के डिप्टी कमांडर अबू महदी अल-मुहांदिस  (Abu Mahdi al-Muhandis) की भी मौत हो गई।  

अधिकारियों ने बताया कि हमले में कुल आठ लोगों की मौत हुई है। सुलेमानी पश्चिम एशिया में ईरानी गतिविधियों को चलाने के प्रमुख रणनीतिकार थे। सुलेमानी पर इजरायल में भी रॉकेट हमलों को अंजाम देने का आरोप था।समाचार एजेंसी एपी ने एक इराकी राजनेता एवं उच्‍च पदस्‍थ अधिकारी के हवाले से हमले में सुलेमानी और अल-मुहांदिस के मारे जाने की पुष्टि की। यही नहीं इनके अलावा ईरान के दो वफादार मिलिसिया नेताओं के भी मारे जाने की पुष्टि हुई है। मारे गए अधिकारियों में अमेरिकी दूतावास पर हमले में शामिल रहे कैतब हिजबुल्लाह का एक अधिकारी भी शामिल है। रिपोर्टों में कहा गया है कि अमेरिका को सुलेमानी की शिद्दत से तलाश थी। 

अंगूठी से हुई शव की पहचान 

रिपोर्टों के मुताबिक, सुलेमानी का विमान बगदाद एयरपोर्ट पर पहुंचा था। विमान से उतरने के बाद सुलेमानी अभी मुहांदिस से मिल ही रहे थे कि अमेरिकी मिसाइल आकर गिरी जिससे सभी लोग मौके पर ही मारे गए। सुलेमानी के शव की पहचान उनकी अंगूठी से हुई। वहीं इराकी सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि बगदाद में अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर अमेरिका की ओर से तीन रॉकेट दागे गए जिनसे दो कारों में विस्फोट हुआ। ईरान के रेवोल्यूशनरी गार्ड ने सरकारी टेलीविजन पर एक बयान में कासिम सुलेमानी की मौत की पुष्टि की है। 

इंटरनेशनल मार्केट में हाहाकार, तेल की कीमतों में भारी इजाफा 

अमेरिकी एयर स्‍ट्राइक कुद बल के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी की मौत और र्इरान समर्थित बल द्वारा इस हत्‍या का बदला लेने की बात सामने आने के बाद एशियाइ तेल बाजार में तेल की कीमतों में भारी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। समाचार एजेंसी स्‍पुतनिक के मुताबिक, क्रूड ऑयल की कीमतों में 1.31 फीसद यानी 67.12 डॉलर प्रति बैरेल की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। अमेरिकी क्रूड की कीमतों में 1.24 फीसद यानी 61.94 डॉलर प्रति बैरल का इजाफा हुआ है। माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में भी इस हमले का प्रतिकूल असर देखने को मिल सकता है।

मध्‍य पूर्व में बिगड़ सकते हैं हालात 

समाचार एजेंसी एपी की रिपोर्ट में कहा गया है कि इन बड़े सैन्‍य अधिकारियों की मौत से मध्‍य पूर्व की परिस्‍थितियों के लिए एक बड़ा टर्निंग प्‍वाइंट है। माना जा रहा है कि ईरान इस हमले का करारा जवाब देगा जिससे हालात बिगड़ सकते हैं। यही नहीं जवाबी हमलों से अमेरिकी और इजराइली हितों को नुकसान भी हो सकता है। पिछले साल ईरान और अमेरिका के बीच तनाव उपजा था जो समय के साथ और बढ़ता जा रहा है। मौजूदा वक्‍त में अमेरिका ने ईरान पर कई तरह की पाबंदियां लगा रखी हैं। इन्‍हें हटाने को लेकर ईरान की ओर से भी समय समय पर तल्‍ख बयान सामने आते रहे हैं.

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

A Doctor Says Chinese Officials Silenced His Coronavirus Warnings in December

गृह मंत्री अनिल विज की बयानबाजी से दुखी CM मनोहर लाल ने संगठन के समक्ष रखा दर्द