in ,

मध्यप्रदेश का बेटा ब्याह कर लाया जर्मनी की बेटी, लेकिन दुल्हन के पिता की बात सुन गाँव हुआ..

प्यार एक ऐसी चीज हैं जिसे सरहदों, रंग रूप, जाति धर्म इत्यादि बन्धनों में रहकर नहीं किया जाता हैं. ये प्यार जब किसी से होता हैं तो बस हो ही जाता हैं. इसके बाद लड़का लड़की एक दुसरे के साथ जीवनभर रहने के सपने देखने लगते हैं. इसी कड़ी में वे शादी जैसा बड़ा स्टेप भी उठा लेते हैं. इन दिनों वैसे भी भारत में शादी ब्याह का जबरदस्त माहोल चल रहा हैं. ऐसे में हमें आए दिन कई दिलचस्प और अनोखी शादियाँ देखने को मिल रही हैं. किसी भी शादी में सबसे बड़ा आकर्षण दुल्हन होती हैं. शादी में आए मेहमान भी दुल्हन को सबसे ज्यादा निहारते हैं.

अब मध्यप्रदेश के साँची गाँव में उस समय माहोल बड़ा रंगीन हो गया जब एक देशी दूल्हें ने जर्मनी दुल्हन संग सात फेरे ले लिए.

बीते रविवार हुई इस शादी में सबकी निगाहें इस विदेशी दुल्हन पर ही टिकी हुई थी. चोखेलाल भावसार सिरोंज के भौरिया गांव के रहने वाले एक टीचर हैं. उनका बेटा बृजकिशोर एक साईंटिस्ट हैं. बृजकिशोर ने हाल ही में जर्मनी के बर्लिन की रहने वाली विक्टोरिया लुइसा फ्राइन मर्सन वॉन बीबर्सटांइन (विलू) से शादी रचाई हैं. ऐसे में ये शादी सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बनी हुई हैं.

इंटरनेट पर इस शादी की तस्वीरें बहुत वायरल हो रही हैं. इस शादी में दुल्हन बनी जर्मनी की महिला भारतीय कपड़ों में बहुत सुंदर लग रही थी. दिलचस्प बात ये रही कि दुल्हन और उसका परिवार भारत में हिंदू रीती रिवाजों से शादी करने को रेडी हो गया. जर्मनी से आए दुल्हन के परिजनों ने भी शादी की सभी रस्मों में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया. खासकर जPics: मध्यप्रदेश का बेटा ब्याह कर लाया जर्मनी की बेटी, हल्दी रस्म हुई तो दुल्हन के परिजनों ने दोनों ही पक्षों ने दुल्हा दुल्हन को हल्दी लगाकर रस्मे पूरी की.

विवाह में शामिल हुए सभी लोग बड़े खुश दिखाई दे रहे थे. उनके चेहरे की मुस्कान साफ़ झलक रही थी. यहाँ तक कि बारात के समय भी रात में बहुत जश्न और हर्षोल्लास का माहोल था.

कुल मिलाकर ये शादी बड़ी ही धूमधाम के साथ संपन्न हुई. शादी में आए मेहमानों को भी इसमें शामिल होकर बहुत आनंद आया. जर्मनी से आए दूल्हें के ससुराल वालों ने शादी में भारतीय व्यंजनों का लुफ्त भी उठाया. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ये कोई पहली बार नहीं हैं जब एक देसी भारतीय दूल्हें ने विदेशी लड़की से शादी रचाई हैं. इसके पहले भी इस तरह के कई मामले सामने आ चुके हैं. दुल्हन के परिजन भी बेहद खुश थे, उन्होंने कहा की ‘कभी सोचा नहीं था की उन की बेटी की शादी इस तरह से एक गाँव में होगी, अब वो अपनी बेटी लड़के वालों को सौंप रही हैं, अब हमारी बेटी के सास ससुर ही बेटी के माता पीता हैं और गांववाले बेटी का पूरा परिवार हैं।” यह बातें सुन कर पूरा गाँव इस शादी की तारीफ़ कर रहा है

भारतीय संस्कृति और यहाँ के लोगो के रीती रिवाज अब धीरे धीरे विदेशों में भी पॉपुलर हो रहे हैं. ये सरहदी सीमाएं लोगो को प्यार करने या शादी करने से रोक नहीं पा रही हैं. वैसे आपको जर्मनी की रहने वाली ये दुल्हन इंडियन परिधान में कैसी लगी हमें कमेंट में जरूर बताए. साथ ही ये तस्वीरें पसंद आई हो तो इसे दूसरों के साथ साझा करना ना भूले.

Report

What do you think?

Written by Bhanu Pratap

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

15 दस्तावेज देकर भी खुद को भारतीय साबित नहीं कर पाई असम की जाबेदा, कानूनी लड़ाई में खो बैठी सब कुछ

Tanhaji Box Office Collection Day 42: सातवें हफ़्ते में पहुंची तानाजी, 6 हफ़्तों में बेहतरीन कमाआ