in ,

तीन गोलियां सिर में धंसीं, एक जबड़े में लगी फिर भी 28 किमी कार ड्राइव कर अस्पताल पहुंची महिला

  • सुमीत कौर पर उनके भाई के बेटे ने किया हमला, आरोपी ने दादी को भी दो गोलियां मारीं
  • तलाक के बाद से मां के साथ रह रहीं सुमीत, पुश्तैनी जायदाद को लेकर है भाई से विवाद

पंजाब में जमीन हड़पने के लिए लड़के ने बुधवार को दादी और बुआ को पिस्टल से 6 गोलियां मारीं। इनमें से 3 गोलियां बुआ के सिर में और 1 गोली जबड़े में लगी, जबकि दो गोलियां दादी की टांगों में लगीं। मुक्तसर के गांव सम्मेवाली में हुई वारदात के बाद आरोपी फरार हो गया। इतनी गोलियां लगने के बावजूद घायल सुमीत कौर ने मां सुखजिंदर को उठाया और खुद कार ड्राइव कर 28 किलोमीटर दूर अस्पताल पहुंच गईं।

महिला की हिम्मत देख डॉक्टर हैरान

डॉक्टरों के मुताबिक, सुमीत (42) और सुखजिंदर ( 65) को लगी गोलियां निकाल दी गई हैं। दोनों की हालत खतरे से बाहर है। सुमीत के हौसले को देखकर डॉक्टर भी हैरान रह गए। उसकी खोपड़ी में 3 गोलियां और एक गोली पीछे गर्दन में फंसी हुई थी, लेकिन घायल महिला फिर भी होश में थी। वहीं, पुलिस ने भतीजे कंवरप्रीत सिंह के खिलाफ केस दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है।

दादी से बोला- चाय बनाओ और मुझे मार दीं 4 गोलियां

सुमीत कौर ने बताया कि कंवरप्रीत अपने पिता हरिंदर सिंह के साथ मुक्तसर की अबोहर रोड गली नंबर 7 में रहता है। मेरा तलाक हो चुका है और मैं मां के साथ गांव में रहती हूं। पुश्तैनी जायदाद को लेकर इनसे विवाद है। कंवरप्रीत अक्सर मिलने आता था। मंगलवार शाम को भी वह घर आया और दादी के पास रुक गया। बुधवार सुबह कंवरप्रीत ने दादी से कहा कि मुझे शहर ट्यूशन जाना है, इसलिए चाय बना दो। जब मां चाय बनाने रसोई में गई तो उसने कार से पिस्टल निकालकर मुझ पर फायरिंग कर दी, शोर सुनते ही मां बाहर आई तो उसने उन पर भी गोलियां चला दी। मां के पास करीब 40 एकड़ पुश्तैनी जमीन है, जिसमें कुछ जमीन मेरे पास है। कंवरप्रीत और उसका परिवार जमीन पर भी कब्जा करना चाहते हैं, जिसके चलते उसने हमला किया।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

मध्य प्रदेश – प्रदेश के दौरे से एक दिन पहले सोनिया गांधी से मिले सिंधिया, सियासत हुई तेज

इंदिरा गांधी को लेकर दिए बयान पर अब राउत की सफाई, कहा- वे पठान नेता के तौर पर डॉन करीम लाला से मिलती थीं