in ,

पुलिस का दावा- एनकाउंटर में मारे गए 4 में से 2 आरोपियों ने पहले भी 9 महिलाओं को दुष्कर्म के बाद जलाकर मारा

  • तेलंगाना पुलिस ने कहा- आरिफ 6 जबकि चेन्नाकेसावुलु ने 3 महिलाओं को दुष्कर्म के बाद जलाकर मारा था
  • ‘27 नवंबर को चारों आरोपियों ने दुष्कर्म के बाद वेटेरनरी डॉक्टर को जलाकर मार डाला था’
  • 6 दिसंबर को पुलिस मौके पर घटना को रीक्रिएट करने पहुंची थी, जहां एनकाउंटर में सभी आरोपी मारे गए

हैदराबाद पुलिस ने मंगलवार को दावा किया कि वेटरनरी डॉक्टर के दुष्कर्म और हत्या में शामिल चार में से दो आरोपियों ने पहले भी 9 महिलाओं को दुष्कर्म के बाद जलाकर मारा है। बुधवार को आई मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पूछताछ के दौरान दो आरोपियों ने पुलिस के सामने यह बात कबूली थी। दरअसल, 27 नवंबर को चारों आरोपियों ने एक वेटरनरी डॉक्टर को दुष्कर्म के बाद जलाकर मार डाला था। आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद 6 दिसंबर को जब पुलिस सभी को घटनास्थल पर सीन रीक्रिएट करने के लिए ले गई तो उन्होंने वहां से भागने की कोशिश की। इसके बाद पुलिस ने आरोपियों का वहीं एनकाउंटर कर दिया था।

आरोपियों से हुई पूछताछ के दौरान मिली जानकारी के आधार पर साइबराबाद पुलिस की एक टीम कर्नाटक में छानबीन कर रही है। एक सीनियर अधिकारी ने बताया- चार आरोपियों मोहम्मद आरीफ, जे नवीन, जे शिवा और चेन्नाकेसावुलु ने दुष्कर्म के बाद हैदराबाद के बाहरी इलाके में वेटरनरी डॉक्टर को जला दिया था। आरोपियों को हिरासत में लेने के बाद हम महिलाओं से दुष्कर्म और जलाने के ऐसे 15 मामलों में उनकी भूमिका की जांच कर रहे थे। इनमें से कई मामले तेलंगाना और कर्नाटक हाईवे पर हुए थे। चार में से दो आरोपियों ने 9 अन्य महिलाओं के साथ भी ऐसा ही करने की बात कबूली थी।

अधिकारी ने बताया कि हम ऐसे हर मामलों की जांच कर रहे हैं और इसके लिए टीम को कई जगहों पर भेजा गया है। पुलिस का चौंका देने वाला यह दावा ऐसे समय किया गया है, जब सरकार ने 6 दिसंबर को किए गए एनकाउंटर की जांच के लिए एसआईटी का गठन करने के निर्देश दिए है।

तीन सदस्यीय टीम एनकाउंटर की जांच करेगी

सुप्रीम कोर्ट ने रिटायर्ड जज वीएस सिरपुरकर के नेतृत्व में तीन सदस्यीय आयोग का गठन किया है, जो एनकाउंटर की जांच करेगा। मंगलवार को तेलंगाना पुलिस ने दावा किया कि आरिफ छह अपराधों में शामिल था, जबकि चेन्नाकेसावुलु ने तीन महिलाओं को दुष्कर्म के बाद जलाकर मारा था।

दोनों आरोपियों ने ट्रांसजेंडरों और वैश्याओं का भी यौन शोषण किया

तेलंगाना पुलिस ने बताया कि आरीफ और चेन्नाकेसावुलु ने तेलंगाना के सांगा रेड्डी, रंगा रेड्डी, महबूबनगर और कर्नाटक के सीमावर्ती इलाकों में हाईवे पर इन घटनाओं को अंजाम दिया था। दोनों ने स्वीकार किया कि हाईवे पर उन्होंने कई महिलाओं समेत वैश्याओं और ट्रांसजेंडरों का भी यौन शोषण किया है। हालांकि, उन्होंने कहा कि 9 मामलों में उन्होंने सभी महिलाओं को वेटरनरी डॉक्टर की तरह दुष्कर्म के बाद जलाकर मार डाला। साइबराबाद पुलिस के पास पहले से ही सभी फॉरेंसिक रिपोर्ट हैं। अधिकारियों द्वारा जल्द ही एक क्लोजर रिपोर्ट फाइल की जाएगी।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

सायरस मिस्त्री फिर से टाटा सन्स के चेयरमैन बनाए जाएं, उन्हें हटाना गलत था: नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्रिब्यूनल

प्रसून जोशी ने गीत से बयां किया बेटियों का दर्द; मोहे लोहार के घर दे दीजो…जो मोरी जंजीरें पिघलाए