in

Video viral : वॉलीबुड के बादशाह शाहरूख भी हुए बौंसी की इस शिक्षिका के दीवाने

गतिविधि आधारित शिक्षण (Activity based learning) के माध्यम से बच्चों को पढ़ाने में माहिर रूबी को अब पूरा देश जानने लगा है। उनकी प्रतिभा की सराहना वॉलीबुड के बादशाह शाहरूख (Shahrukh Khan) और दिग्गज उद्योगपति आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) भी चुके हैं। रूबी को पहचान दिलाने और उनकी प्रतिमा को देश के समाने लाने का श्रेय बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के Teachers of Bihar को भी जाता है। रूबी ने बताया कि Teachers of Bihar ऐसा प्लेटफार्म है, जिसपर हमें अपनी प्रतिभा निखरने का मौका मिलता है। इस प्लेटफार्म के माध्यम से उन्होंने अन्य शिक्षकों की गतिविधियों को देखा और सीखा। इसके अलावा खुद की ग‍ि‍तिविधियों की जानकारी वहां साझा की।

रूबी कुमारी बांका जिले की रहने वाली हैं। उनका घर बौंसी प्रखंड में गोलहट्टी है। उनके पति पंकज मिश्रा भी एक निजी विद्यालय में पढ़ाते हैं। रूबी अंग्रेजी की शिक्षका है। उन्होंने अंग्रेजी से स्नातक तक की शिक्षा ली है। साथ ही बच्चों को बेहतर तरीके से पढ़ाने के लिए डीएलएड प्रशिक्षण भी प्राप्त किया है। उनका मायका भी बांका‍ जिले के मिश्राचक, डहुआ, बौंसी में है। वह उत्क्रमित मध्य विद्यालय सरौनी बौंसी में शिक्षिका हैं। विद्यालय में कुछ विषयों के शिक्षक नहीं रहने के कारण रूबी खुद ही अंग्रेजी के साथ-साथ गणित और संस्कृत पढ़ातीं हैं। इस विद्यालय में वर्ग प्रथम से अष्टम वर्ग तक के छात्र-छात्राएं पढ़ते हैं।

गतिविधि आधारित शिक्षण

रूबी अपने विद्यालय में बच्चों को गतिविधि आधारित शिक्षण (Activity based learning) के माध्यम से पढ़ाई हैं। उन्होंने बताया कि इस माध्यम में बच्चों को पढ़ाने में रूचि जगती है। इससे बच्चे जल्दी सीखते हैं और उन्हें याद भी रहता है। यह माध्यम से पढ़े हुए पाठ को बच्चे कभी नहीं भूलते हैं। बच्चों को यह भी लगता है कि उन्‍हें खेल खेलाया जा रहा है। खेल-खेल में बच्चों को ज्ञान देने की इस कला से विद्यालय के छात्र-छात्राएं भी उनसे काफी प्रभावित हैं। इसके लिए रूबी मोबाइल एप का भी सहारा लेती हैं। उन्होंने कहा कि गणित ही नहीं, बल्कि अंग्रेजी और संस्‍कृत भी वह इसी तरह पढ़ाई हैं। वे बच्चों को जब खेल खेलातीं हैं तब भी वह कुछ ना कुछ संदेश और ज्ञान ही देती हैं। उनकी पढ़ाई से बच्चे इतने प्रसन्न होते हैं कि विद्यालय में रूबी को हमेशा वे सभी घेरे रहते हैं। चेतना सत्र को भी रूबी बखूबी अंजाम देतीं हैं। इस सत्र में भी वे रोज कुछ न कुछ नया प्रयोग करतीं हैं। 

वैदिक गणित की प्रति रूचि

शिक्षिका रूबी ने बताया कि उन्‍हें वैदिक गणित की प्रति शुरू से ही रूचि है। बच्‍चों को कम समय सें भारी से भारी हल प्राप्त करने की जानकारी देने के लिए खुद भी लगातार अध्ययन करतीं हैं। इसके लिए Teachers of Bihar में अपलोड किए गए Video को भी देखतीं हैं। वैदिक गणित की पुस्तकें पढ़ते हैं। वे हाथ को ही कैलकुलेटर (calculator) बनाते हैं। दस अंगुली की मदद से भारी से भारी हिसाब को हल कर देतीं हैं। वे बच्चों को भी इस पद्धति की जानकारी दे रहीं हैं।

अभिनेता शाहरुख और आनंद महिंद्रा ने कहा – WOW

शिक्षिका रूबी कुमारी का स्‍कूल में पढ़ाते हुए एक Video viral हो रहा है। जिसमें वे अपनी दस अंगुली की मदद से गणित में कैलकुलेशन को बड़ी आसानी से समझा रहीं हैं। गणित पढ़ाने के रोचक तरीके का वीडिया देशभर में वायरल है। यह Video सात जनवरी 2020 को बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के टीचर्स ऑफ बिहार-द चेंजमेकर्स (Teachers of Bihar-The Change Makers) के फेसबुक पेज पर इसे अपलोड किया गया। इसका लिंक ट्विटर (twitter) पर भी साझा किया गया। इस वीडियो को अब तक एक लाख 75 हजार से अधिक लोगों ने शेयर किया है। यह साढ़े तीन लाख पहुंच चुका है। इस Video को वॉलीबुड अभिनेता शाहरुख और महिंद्रा ग्रुप के मालिक आनंद महिंद्रा ने रि-ट्वीट (Re-tweet) किया है। आनंद महिंद्रा के रि-ट्वीट (Re-tweet) को सात हजार लोगों ने रि-ट्वीट और लगभग दो लाख लोगों ने उसे देखा है। वहीं शाहरुख के रि-ट्वीट (Re-tweet)  को 50 हजार से अधिक ने पसंद किया और पांच हजार लोगों ने रि-ट्यूट किया है।

आनंद महिंद्रा ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, ‘क्या? मुझे इस शॉर्टकट के बारे में बिलकुल भी नहीं पता था। काश यह मेरी गणित की टीचर होती। मैं भी इस विषय में और अच्छा कर सकता था।’

यही नहीं शाहरुख खान भी इस टीचर के अंदाज से काफी प्रभावित हुए हैं। उन्होंने वीडियो को रीट्वीट (Re-tweet) करते हुए लिखा है कि आपको बता नहीं सकता कि मेरे जीवन के कितने मुद्दों को इस एक साधारण गणना ने हल किया है।

जानिए क्या है Teachers of Bihar

Teachers of Bihar एक ऐसा मंच है, जो शिक्षकों एवं शिक्षा से जुड़े सभी लोगों के द्वारा किये जा रहे शैक्षिक प्रयासों को साझा करने, नवाचारों से सीखने और लागू करने का अवसर और पहचान प्रदान करता है। Teachers of Bihar शिक्षकों द्वारा, शिक्षकों के लिए, शिक्षकों का एक ऐसा अभिनव मंच है जो आपके सार्थक प्रयासों को पहचान और दिशा प्रदान करता है। इसकी स्थापना 20 जनवरी 2019 को किया गया था।

Report

What do you think?

Written by Bhanu Pratap

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

काम की खबर: CTET पांच जुलाई को, आवेदन करने के लिए भी निकल गई है डेट; जानें पूरा शेड्यूल

गर्व कीजिए भारत में बन रहा है एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट, चीन भी रह जाएगा पीछे