in

Wi-Fi कॉलिंग और व्हाट्सऐप कॉलिंग के बीच क्या अंतर है

टेक्नोलॉजी ने हमारे कॉल करने के तरीके में ज़बरदस्त बदलाव ला दिया है। हम गोल-गोल डायल घुमाकर कॉल करने वाले लैंडलाइन फोन के ज़माने से स्मार्टफोन तक का सफर तय कर चुके हैं। अब हम अपने दोस्तों, परिवार और सहकर्मियों से पहले से कहीं ज्यादा आसानी से कनेक्ट कर सकते हैं।

हालांकि इसके लिए हमें मोबाइल नेटवर्क पर काफी ज्यादा निर्भर रहना पड़ता है।

लेकिन अब हम इस मामले में भी एक कदम आगे बढ़ चुके हैं, क्योंकि अब वाई-फाई की मदद से भी फोन कॉल्स की जा सकती है। आइए एक और प्रचलित इंटरनेट बेस्ड कॉल सर्विस व्हाट्सऐप कॉलिंग से इसकी तुलना करके, वाई-फाई कॉलिंग के फायदों को और बेहतर ढंग से समझने की कोशिश करते हैं।

थर्ड पार्टी ऐप की कोई ज़रूरत नहीं

व्हाट्सऐप और दूसरी थर्ड पार्टी कॉलिंग ऐप्स में ये ज़रूरी है कि कॉल करने वाले और कॉल रिसीव करने वाले, दोनों ही लोगों के फोन में ये ऐप ज़रूर हों। ऐसे में वो लोग जो व्हाट्सऐप कॉलिंग सर्विस का इस्तेमाल नहीं करना चाहते या फिर जिन्हें टेक्नोलॉजी की बहुत ज़्यादा समझ नहीं, उनके लिए व्हाट्सऐप कॉलिंग एक मुश्किल विकल्प है। लेकिन एयरटेल की Wi-Fi कॉलिंग का सबसे बड़ा फायदा ये है कि इसमें कॉल करने के लिए आपको ज़रूरत है, तो बस एक अच्छे Wi-Fi नेटवर्क की। इससे आप किसी भी नेटवर्क पर कॉल कर सकते हैं। और तो और आप किसी साधारण हैंडसेट जो कि स्मार्टफोन न हो उस पर भी इस सर्विस की मदद से कॉल कर सकते हैं।

ये इंटरनेट के बगैर भी काम करता है!

अब तक तो आप समझ ही चुके हैं कि एयरटेल वाई-फाई कॉलिंग की मदद से आप HD कॉल्स कर भी सकते हैं और रिसीव भी कर सकते हैं। लेकिन जो बात इसे सही मायनों में एक क्रांतिकारी टेक्नोलॉजी बनाती है, वो यह कि इससे बड़े ही आराम से आपकी कॉल वाई-फाई कॉल और सेल्युलर नेटवर्क वाली कॉल के बीच स्विच हो जाती है। व्हाट्सऐप कॉलिंग की तरह वाई-फाई कलिंग सिर्फ इंटरनेट पर निर्भर नहीं। इसीलिए ध्यान रखें कि जब आप अपने फोन पर वाई-फाई कॉलिंग ऑप्शन ऑन करें, तो VoLTE भी ऑन करना न भूलें। इससे होगा ये कि जब भी आप अपने घर या ऑफिस वाई-फाई स्पॉट से दूर होंगे तो आपकी कॉल अपने आप VoLTE पर स्विच हो जाएगी।

कितना डेटा खर्च होगा और क्वालिटी कैसी मिलेगी

हो सकता है कि व्हाट्सऐप कॉल करते हुए आपको अपने मोबाइल डेटा के ज्यादा इस्तेमाल का डर सताता हो। लेकिन एयरटेल वाई-फाई के मामले में फिक्र की कोई बात नहीं। इस सर्विस में बेहद कम डेटा खर्च होता है और आपको मिलती है एक बेहतरीन क्वालिटी कॉल। इस सर्विस के लिए अलग से कोई चार्ज यानि पैसे भी नहीं देना पड़ते। एक तरह से देखें तो आप एयरटेल वाई-फाई सर्विस का इस्तेमाल बिल्कुल मुफ्त में कर सकते हैं। यही नहीं, व्हाट्सऐप कॉल की तरह इसमें कॉल कनेक्ट होने में किसी तरह की देरी नहीं होती। आप अगले व्यक्ति के फोन उठाते ही उसकी आवाज़ सुन सकते हैं।

आपके डेटा की सुरक्षा

हाल में हुई साइबर अटैक की घटनाओं के बाद से यूज़र्स इस बात को लेकर चिंतित हैं कि क्या व्हाट्सऐप के सिक्योरिटी फीचर्स साइबर हमलों का मुकाबला कर पाने में सक्षम हैं? हालांकि व्हाट्सऐप के अपने अलग सेफ्टी फीचर्स हैं, लेकिन इसके बावजूद यह मॉलवेयर से पूरी तरह सुरक्षित नहीं है। मतलब यह कि आपकी प्राइवेसी खतरे में पड़ सकती है। वाई-फाई कॉल्स में ऐसा कोई खतरा नहीं होता क्योंकि इसके लिए किसी थर्ड पार्टी ऐप की ज़रूरत ही नहीं पड़ती।

अंतिम निष्कर्स

व्हाट्सऐप कॉलिंग के मुकाबले एयरटेल वाई-फाई कॉलिंग न सिर्फ अधिक सुविधाजनक और सुरक्षित है बल्कि इससे व्हाट्सऐप के मुकाबले कहीं ज्यादा बेहतर कॉल क्वालिटी भी मिलती है। एयरटेल ने जम्मू और कश्मीर को छोड़कर पूरे भारत में इस सेवा की शुरुआत कर दी है और ये सेवा सभी ब्रॉडबैंड्स पर उपलब्ध है। ऐसे में जब तक आपके पास एक एयरटेल 4G सिम और वाई-फाई कॉलिंग को सपोर्ट करने वाला हैंडसेट है, आप इस सेवा का इस्तेमाल कर सकते हैं।

फिलहाल शाओमी, सैमसंग, वन प्लस, ऐपल, वीवो, माइक्रोमैक्स समेत 16 ब्रांड्स के 100 से भी ज्यादा हैंडसेट्स में एयरटेल वाई-फाई कॉलिंग फीचर आ चुका है। दिसंबर में लॉन्च के बाद से अब तक 30 लाख से भी अधिक ग्राहक इस सर्विस का आनदं ले रहे हैं।

Report

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

सेबी ने क्राइम ब्रांच को सौंपी 22 ब्लैक लिस्टेड कंपनियों की लिस्ट, जांच होगी

पीएम मोदी से हो गई सिंधिया की मुलाकात, 48 घंटे में गिर सकती है कमलनाथ सरकार!